बेटो को जेल से रिहाई और अपनी जमीन पर कब्जा पाने दर दर भटक रही है वृद्ध विधवा- Shivpuri News

शिवपुरी।
समाज के अंतिम आदमी की इस शासन में कितनी सुनवाई है इसका प्रत्यक्ष उदाहरण आज एसपी ऑफिस में देखने को मिला। एसपी ऑफिस में न्याय की गुहार लगाने आई बदरवास के धामनटूक गांव से आई विधवा वृद्ध ने एसपी शिवपुरी को एक आवेदन दिया है। इस आवेदन के अनुसार वृद्ध की जमीन पर कब्जा कर लिया और इसकी चक्कर में उसके दोनो बेटो को जेल जाना पड़ा अब वह अपनी बहुओ के साथ अकेली रह गई है।

बदरवास थाना क्षेत्र में आने वाले गांव धामनटूक में निवास करने वाली रमा आदिवासी पत्नी स्वः परसादी सहरिया ने बताया कि मेरे गांव धामनटूक पट्टा भूमि सर्वे नं 344 रकवा 1.17 हैक्टेयर है इस जमीन पर गांव में ही रहने वाले रामसिंह सहरिया व रामदयाल सहरिया पुत्रगण लटूरी सहरिया ने अवैध कब्जा कर लिया।

जमीन को कब्जा रहित करने के लिए बदरवास तहसील में धारा 250 का प्रकरण लगाया था। जिसका फैसला 7 जनवरी को हमारे पक्ष में आया था। इस फैसले के बाद यह आदेश अमल में नहीं आ रहा था। हमारी जमीन पर हमें कब्जा नहीं मिला रहा था। इस कारण मेरे बेटो ओर राजेन्द्र और नन्हे से जमीन पर कब्जा करने वालों से विवाद हो गया। इन कब्जाधारियों की मदद गांव के धाकड कर रहे है इस कारण मेरे बेटो को दो माह पहले जेल भेज दिया।

अब मैं अपनी जमीन पर नहीं जा सकती हूं। बेटों के जेल जाने के कारण मेरी दोनो बहुओ सहित अकेली हूं। मेरी कोई मदद करने वाला नहीं है। अतः श्रीमान से निवेदन है कि आरोपीगण रामसिंह आदिवासी व रामदयाल आदिवासी के खिलाफ कार्रवाई की जाए, मेरी जमीन पर मुझे कब्जा दिलाया जाए और मेरे बेटो को जेल से रिहा किया जाए।