बदरवास की पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट: 3 लोगों की मौत, आधा दर्जन से अधिक गंभीर घायल - Badarwas News

बदरवास। बदरवास कस्बे में भारतीय स्टेट बैंक के पीछे रहने वाले बल्लू मंसूरी और पप्पू मसूरी के मकान में चल रही पटाखे की अवैध फैक्ट्री में आज दोपहर 12 बजे तेज विस्फोट से बदरवास कस्बा दहल गया। देखते ही देखते एक के बाद एक दो विस्फोट हुए और गोदाम के भीतर से चीखने चिल्लाने की आवाज आने लगी। विस्फोट से बिल्डिंग में आग लग गई।

विस्फोट इतना तेज था कि आसपास के मकानों में दरार आ गई और चारों तरफ धुंए का गुबार तथा चीख चिल्लाहट सुनाई देने लगी। विस्फोट मेंं दो लोगों की मौत हो गई तथा 8 से 10 लोग जीवन और मौत से संघर्ष कर रहे हैं। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस और दमकल मौके पर पहुंच गई और दमकल ने आग बुझाना शुरू कर दिया। मकान में फंसे लोगों को बाहर निकालने का सिलसिला शुरू हो गया और देखते ही देखते घटनास्थल पर सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गई।

मकान से मृतक और घायलों को निकालने का सिलसिला शुरू हो गया। मृतकों में एक महिला और एक बच्चा शामिल है। मृतक महिला इमरान की पत्नी बताई जाती है। उक्त महिला और बच्चे के मृत होने की पुष्टि एसआई ब्रजमोहन कुशवाह ने की है। घटना स्थल पर कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह और एसपी राजेश सिंह चंदेल पहुंच गए हैं। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भिजवाने का सिलसिला शुरू हो गया है। जिला अस्पताल में भी दोपहर डेढ़ दो गंभीर रूप से घायल व्यक्तियों को इलाज के लिए भर्ती कराया गया। जबकि कुछ घायलों को इलाज के लिए गुना अस्पताल भेजा गया।

जानकारी के अनुसार पप्पू मंसूरी और बल्लू मंसूरी के मकान में आज दोपहर निचली मंजिल में पटाखे बनाए जा रहे थे। जिसमें लगभग 10 लोग थे। जबकि ऊपरी मंजिल में 5 लोग मौजूद थे। कुछ व्यक्ति घर के बाहर भी खड़े हुए थे। अचानाक दोपहर 12 बजे जहां आतिशबाजी बनाई जा रही थी वहां पहले एक विस्फोट हुआ और फिर इसके बाद दूसरा तेज विस्फोट हुआ और देखते ही देखते आग लग गई। चीख चिल्लाहट शुरू हो गई। कस्बे में भी भय का वातावरण व्याप्त हो गया।

आसपास के मकान की दीवारें हिल उटीं। आग कैसे लगी यह तो स्पष्ट नहीं हुआ। लेकिन बताया जाता है कि तेज गर्मी के कारण विस्फोटक पदार्थ में आग लगी। जिससे विस्फोट हुआ। विस्फोट की आवाज सुनकर पडोस में रहने वाले लोग घरों से बाहर निकल आए और वहां भगदड़ मच गई। इसके बाद लोगों ने पप्पू मंसूरी के मकान से धुंआ का गुब्बार निकलता दिखा और वहां चीख पुकार भी सुनाई दी। जिससे लोगों ने मकान में बचाव कार्य शुरू किया।

सूचना पर पुलिस भी मौके पर आ गई और एक-एक कर मकान में फंसे लोगों को बाहर निकालने का प्रयास शुरू किया गया। कुछ ही देर में मकान से आग से झुलसे हुए लोगों को बाहर लाया गया। जिसमें एक आग से जला हुआ कंकाल भी निकला। जिसे इमरान की पत्नी बताया जा रहा है। जबकि आग से जलने से एक बालक की भी मौत हो गई,खबर लिखे जाने तक 3 लोगो की मौत की पुष्टि हो चुकी है। वहीं 8 लोग गंभीर रूप से झुलसे हुए मकान से बाहर निकाले गए। जिनके नाम पुलिस ने रूबीना, मंजू और गोलू बताए हैं। घायलों को बदरवास से शिवपुरी अस्पताल लाया गया। जहां वह सभी गंभीर अवस्था में हैं।