शिवपुरी के डॉक्टर रत्नेश गोयल ने MCI का एक्जाम किया क्रेक, हासिल की MBBS (MD) की डिग्री- Shivpuri City News

शिवपुरी। शिवपुरी के रहने वाले सुशील गोयल के पुत्र रत्नेश जैन ने दिल्ली में आयोजित MCI(मेडिकल कॉउंसललिंग ऑफ इंडिया के एक्जाम को पास आउट किया है। बीते रोज MCI का रिजल्ट घोषित हुआ हैं इस एक्जाम में इस परिक्षा को पास करने के लिए 20 हजार परिक्षार्थियो ने भाग लिया था। गोयल परिवार के बेटे की इस सफलता से परिवार के साथ शुभचिंतक भी प्रसन्न है। इस एक्जाम को पास आउट कर डॉ रत्नेश जैन ने MBBS(MD) की डिग्री हासिल की है।

डॉ रत्नेश जैन ने शिवुपरी समाचार डॉट कॉम से बातचीत करते हुए कहा कि मेरी प्रारंभिक शिक्षा गणेशा ब्लेस्ड स्कूल शिवपुरी से हुई हैं। जहां मैने 2014 में 12 पास किया था। इसके बाद सन 2015 में कोटा के Allen institut kota में 1 साल पीएमटी की कोचिंग की।

इसके बाद मैने रसिया से मेडिकल की पढाई करने का प्लान बनाया। रसिया के volgograd state medical university(VSMU) में एडमिशन हुआ। यहां सन 2015 से 2021 तक रहकर 6 साल तक MBBS की पढाई की और कडी मेहनत से पास हुआ। डॉ जैन ने कहा कि मेरा रसिया का एक्सपीरियंस काफी शानदार रहा। 19 सब्जेक्टो पर फोकस रहता हैं और एक एक कर क्लीयर करना होता है।

इंडिया में प्रेक्टिस करने के लिए MCI का एक्जाम क्लीसर करना होता है। इस एक्जाम को क्लीयर करने के लिए दिल्ली में जुलाई 21 से दिसंबर तक रहा। दिल्ली में Next Learning Centre से तैयारी की। MCI(मेडिकल कॉउंसललिंग ऑफ इंडिया ) के इस एक्जाम को क्रेक करने के लिए 16 घंटे प्रतिदिन तक पढाई करनी पडी। इस कारण ही पहले प्रयास में एमसीआई के इस एक्जाम को क्लीयर किया है।

परिवार में नही है कोई डॉक्टर
डॉ रत्नेश जैन ने कहा कि मेरे परिवार में कोई भी डॉक्टर नही है। मेरे छात्र जीवन से ही डॉक्टर बनने की इच्छा थी। मेरे परिवार ने मुझे आत्मबल दिया उनके आर्शाीवाद के कारण ही आज में इस एक्जाम को क्लीयर कर सका हूं।