CM HELPLINE पर शिकायत: निराकरण के लिए शिकायतकर्ता को बुलाया और पीट-पीट कर मरणासन्न कर दिया

शिवपुरी। आज पुलिस अधीक्षक कार्यालय के पास ग्राम खिसलौनी से आए ग्रामीणों ने पुलिस अधीक्षक को आवेदन देते हुए शिकायत की है कि उनके भाई ने सरपंच और सचिव के भ्रष्टाचार की शिकायत की तो सरपंच और सचिव ने शिकायत का निराकरण के बहाने उसे बुलाया और जमकर मारपीट कर दी। आरोपीयों ने पीडित को इतना पीटा की उसे पीट पीटकर मरणासन्न कर दिया।

आज एसपी से शिकायत करते हुए विजयसिंह यादव निवासी ग्राम खिसलौनी ने बताया है कि उसका छोटा भाई सिंग्राम सिंह 27 अक्टूबर को जब अपनी भूमि पर काम कर रहा था तभी वहां सहायक सेकेट्री तुलसीराम यादव एवं अन्य पंचायत कर्मचारी का फोन आया और कहा कि तुमने जो शिकायत की थी उसका आज निराकरण होना है, तुम तुरंत ग्राम कचनारिया स्कूल पर आ जाओ।

जिस पर सिंग्रामसिंह सुबह 10 बजे कचनारिया स्कूल पर पहुंचा तो वहां पूर्व से ही ग्राम पंचायत सुनावलदेवरी का सचिव दीवानसिंह यादव एवं ग्राम पंचायत खिसलोनी का रोजगार सहायक तुलसीराम यादव, दीवानसिंह यादव का भाई कल्लन यादव एवं छुट्टन यादव व दीवानसिंह यादव के साथी बलवीर यादव, रविंद्र यादव निवासी ग्राम कचनारिया अपने साथ तलवार, कुल्हाडी, लाठी से लैस थे तथा भाई को घेर कर गाली-गलौंज करते हुए लाठी, तलवार व बंदूक से हमला करते हुए जमकर पीट दिया। आरोपी उसकेे भाई को बेहोश समझकर भाग गए। इस मामले की शिकायत करने वह बामौरकलां थाने पहुंचे तो पुलिस ने उल्टा उनपर ही केस दर्ज कर लिया।

फरियादी ने बताया है कि दीवानसिंह यादव स्वयं अन्य ग्राम का पंचायत का सचिव है एवं पूर्व में प्रार्थी के ग्राम का ही सचिव था तथा वर्तमान में दीवानसिंह यादव की मां ग्राम पंचायत खिसलोनी की ही सरपंच भी है तथा दीवानसिंह यादव स्वयं व इसका संपूर्ण परिवार अत्यंत ही दबंग किस्म का है। पूर्व में भाई सिंग्रामसिंह यादव द्वारा दीवानसिंह द्वारा किए गए भ्रष्टाचार की शिकायत की गई थी तब से ही दीवानसिंह यादव कके भाई एवं परिवार से दुर्भावना रखता है एवं रंजिशन भाई सिंग्रामसिंह यादव को जान से मरने की मंशा से उक्त हमला किया गया है। वहीं मामले में हमारे पुलिस ने काई सुनवाई नहीं की बल्कि अपराधियों की सुनवाई की।