स्टनो ट्रेड के अधिकांश छात्र फैल, पहुंचे कलेक्टर के पास: कॉपियां रीचेक हों या जनरल प्रमोशन मिले - Shivpuri News

शिवपुरी। सन 2019 में हमने स्टेनो की पढ़ाई के लिए प्रवेश लिया था । 2020 में हमारी परीक्षा नहीं हो सकी। 2021 में परीक्षा हुई और परिणाम आया तो उसमें अधिकांश विद्यार्थियों को फेल कर दिया। कोरोना काल में न तो पढ़ाई हुई और ना ही परीक्षा की कॉपी ही ढंग से जांच की गई।

जिसके चलते विद्यार्थियों को जानबूझकर फेल किया गया।ऐसे में हमें भी दसवीं की तरह जनरल प्रमोशन मिले। यह मांग स्टेनो के छात्र छात्राओं ने अपनी शिकायत दर्ज कराते हुए लिखित आवेदन के साथ कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह को सौंपी।

शिकायती आवेदन देते हुए छात्र-छात्राओं ने कहा कि कोरोना के कहर ने सबसे ज्यादा विद्यार्थियों के साथ धोखा किया। शिक्षक भी विद्यार्थियों के साथ चीटिंग करने से बाज नहीं आए ।उन्होंने परीक्षा में छात्र छात्राओं को नंबर ही नहीं दिए। जिससे हम फेल हो गए। और साल बिगड़ जाने से अब उन्हें काफी मानसिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

ऐसे में यदि उनकी कॉपियां वापस चेक जाए और रिटोटलिंग हो जाए तो सभी छात्र निश्चित रूप से पास हो जाएंगे ।या फिर जिस तरह कक्षा 10 के लिए विद्यार्थियों को प्रमोशन दिया गया है उसी तरह से स्टेनो के छात्र-छात्राओं को भी जनरल प्रमोशन दिया जाए, ताकि वह अपना भविष्य सुरक्षित रख सकें। उनकी साल खराब ना हो।

इस संबंध में उन्होंने प्रदेश की खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के नाम ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर को सौंपा। डिप्टी कलेक्टर ने उनकी मांग को सुनकर जांच कराने की बात कही।

होगी सप्लीमेंट्री परीक्षा

हमारे यहां तो तकरीबन 70 फीसदी विद्यार्थी पास हुए हैं ।जिन विद्यार्थियों को स्टेनो परिणाम में परेशानी है,वह या तो रिटोटलिंग करा सकते हैं। या फिर आरटीआई के तहत कॉपी निकलवा कर उसे देख सकते हैं। जहां तक मेरी जानकारी है सर्कुलर के अनुसार जो विद्यार्थी इस बार आईटीआई में फेल हुए हैं उनकी 60 दिन बाद सप्लीमेंट्री परीक्षा होगी। जिसका परिणाम भी 10 दिन में आ जाएगा। विद्यार्थी घबराएं नहीं।
शाहिद खान,संचालक रेडिएंट आईटीआई शिवपुरी

लिखित शिकायत करें

स्टेनो की परीक्षा में सरकारी और निजी आईटीआई में तकरीबन 1500 विद्यार्थी शामिल होते हैं। हर एक तो इसमें पास हो नहीं सकता। क्योंकि यह कठिन परीक्षा होती है। इस बार परीक्षा भी ऑनलाइन हुई थी, और परिणाम भी ऑनलाइन आया है।

कितने परीक्षार्थी फेल हुए यह डाटा तो हमारे पास नहीं है, क्योंकि परिणाम विद्यार्थी की आईडी से ही खुल रहा है। परिणाम को लेकर कोई शिकायत है तो वह अपनी लिखित शिकायत दर्ज करा सकते हैं। नितिन जी,प्राचार्य, आईटीआई शिवपुरी