करोनो को कागजों में किया किल, धरातल पर कोरोना कर रहा हैं किल: पढ़िए कैसे कागजों में हुआ सर्वे - Shivpuri News

शिवपुरी। जिले में बढते हुए संक्रमण की रफ्तार की रोकने के लिए किल कोरोना अभियान शुरू किया था,लेकिन प्रशासन के कर्मचारियो को इस अभियान को ही किल कर दिया,इसका जीवंत उदाहरण बैराड नगर से आ रहा हैं हकिकत में कोरोना जिले के नागरिको को किल कर रहा हैं।

क्या हैं किल कोरेाना अभियान

किल कोरोना अभियान के तहत घर-घर सर्वे करके कोरोना के लक्षण वाल मरीजो को तलाशना हैं इसके लिए आंगनबाडी कार्यकर्ता और आशा कार्यकर्ताओ की वार्ड के हिसाब से टीमे बनाई हैं। और इन कर्मचरियो को प्रत्येक घर के हर परिवार धारी का डाटा बनाना है कि उसे ऐसा कोई लक्ष्ण तो नही हैं तो कोरोना संक्रमण के लक्षणो से मिलता हैं और लिस्ट बनाकर अपने वरिष्ठो को सौपनी हैं।

क्या हुआ बैराड में: घर बैठे ही कर दिया सर्वे, जिन्है लक्षण बताए वे रहते ही नही हैं

बैराड़ तहसीलदार ने दो वार्ड में कराए गए सर्वे के दौरान 163 लोगों की लिस्ट नगर परिषद सीएमओ को सौंपी है। जिन्हें सर्दी, खांसी और बुखार की शिकायत होना बताई है। सीएमओ ने क्वारेंटाइन सेंटर में भर्ती कराने के लिए अपने कर्मचारी भेजे तो धरातल पर हकीकत कुछ और ही निकली। जिन लोगों को कोरोना संबंधी लक्षण बताए हैं, उनमें से कई लोगों ने लिखित में दिया है कि उन्हें कोई लक्षण नहीं हैं। किसी ने गलत तरीके से सर्वे करके लिस्ट बनाई है। क्योंकि सर्वे करने के लिए उनके घर कोई नहीं आया है।

तहसीलदार का पत्र:क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती करें, ताकि सामान्य लोगों में संक्रमण ना फैले:

तहसीलदार ने सीएमओ को पत्र लिखा है कि नगर परिषद बैराड के वार्डों में संयुक्त दल से कोरोना संबंधी सर्वे कराया गया। सर्वे के दौरान 163 व्यक्तियों में कोविड-19 के लक्षण जैसे बुखार, जुखाम एवं खांसी आदि पाए गए हैं। कलेक्टर के निर्देश पर उक्त मरीजों को कस्तूरबा गांधी बालिका छात्रावाए में बनाए क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती करना है। ताकि उक्तमरीजों के सैंपल लिए जा सकें और अन्य सामान्य लोगों में संक्रमण फैलने से रोका जा सके।

सर्वे लिस्ट में जिन्हे लक्षण बताए, उनके घर ही नहीं

वार्ड 9 की लिस्ट में बसंती पत्नी पदमचंद गुप्ता को बुखार और जुखाम, पूजा पत्नी सीताराम गुप्ता को जुखाम, मुस्कान पत्नी गोविंद सेन जुखाम, अंता पत्नी बृजेश गुप्ता जुखाम, अंकित पुत्र बृजेशा गुप्ता को खांसी, नीतेश पुत्र बृजेश गुप्ता को जुखाम, गायत्री पत्नी दिनेश सेन को बुखार, रूपाली पत्नी राहुल पचौरी को सर्दी व खांसी, ममता पत्नी नीरज को बुखार व श्वांस लेने में परेशानी जैसे लक्षण बताए हैं। जबकि मौके पर इनमें से किसी के घर ही नहीं है।

ये कस्बे में नहीं रहते, फिर भी सर्वे लिस्ट में जोड़ा

लिस्ट में चारू पत्नी हरिओम गुप्ताको जुखाम की शिकायत बताई है। मौके पर पहुंचे तो पता चला कि चारू ग्वालियर रहती है। अतुल पुत्र शोभा गोयल बुखार व जुखाम बताया है जो ग्वालियर रहते हैं। वहीं भूपेंद्र शर्मा और सुरेश कुमार पांडेय को लक्षण बताए है, दोनों शिवपुरी रहते हैं।

इन लोगों को खांसी, जुखाम, बुखार बताया, मौके पर पहुंचे इन लोगों में कोई लक्षण नहीं दिखे

धर्मेंद्र जैन पत्नी जवाहर सिंह, रश्मी सेन पत्नी धर्मेंद्र काे बुखार, मनोरमा तिवारी बुखार, पुष्पा सेन जुखाम, राजू सेन बुखार,पवन सोनी जुखाम, रेनू पत्नी नीरज गुप्ता को बीमार बताया है। मौके पर नगर परिषद के कर्मचारी पहुंचे तो उक्त लोगों ने लिखकर दिया है कि हम स्वस्थ हैं। किसी ने गलत रिपोर्ट बनाकर दी है।

कोरोना लक्षण वाली सर्वे लिस्ट में गलत नाम जोड़े जाने से नाराज युवक ने सीएम हेल्पलाइन में तक में शिकायत कर दी हैं।