CORONA ने बनाया टेस्ट मैच का स्कोर, पॉजिटिव 400 के पार: RTPC की पॉजिविटी दर पहुंची 85%

शिवपुरी। जिले में लगातार फैलते संक्रमण से बचाने के लिए और शिवपुरी के हर नागरिक को स्वस्थय रखने की जिम्मेदारी लेते प्रशासन लगातार जांच की संख्या बढा रही हैं। जिले मे 14 माह के कोरोना काल की सबसे अधिक 1386 सैंपल का बुधवार की देर रात हैल्थ बुलेटिन जारी किया। इसमें कोरोना टेस्ट ने टेस्ट मैच का स्कोर बनाते हुए 408 मरीज संक्रमित हुए हैं।

स्वास्थय विभाग से जारी हैल्थ बुलेटिन के अनुसार बुधवार को एक दिन में सबसे अधिक 1386 सैंपल टेस्ट हुए हैं जिसमें रिकार्ड 408 नए कोरोना मरीज सामने आए हैं। इनमें दो मरीज श्याेपुर और एक गुना जिले का शामिल है। इसी के साथ शिवपुरी जिले में एक्टिस केस भी बढ़कर 2 हजार 261 हो चुके हैं।

कोरोना महामारी के चलते मार्च 2021 से लेकर 5 मई 2021 तक कुल 1 लाख 1 हजार 195 सैंपल टेस्ट जिले में हो चुके है। इनमें 91 हजार 283 निगेटिव रहे हैं। वहीं बुधवार को 261 मरीज स्वस्थ हुए है। अब तक कुल 9 हजार 696 कोरोना मरीज सामने आ चुके हैं जिसमें से 7380 मरीज ठीक हो चुके हैं।

मरीजों की संख्या ज्यादा होने की वजह से होम आइसोलेशन में 1 हजार 641 मरीजों को रखा गया है। कोविड केयर सेंटर में 24 मरीज रह रहे हैं। हॉस्पिटल आइसोलेशन में 230 और कोविड आईसीयू में 85 कोरोना मरीज भर्ती हैं। जबकि आईसीयू में 36 अन्य गंभीर मरीजों को भर्ती रखा गया है।

आरटी पीसीआर में 85.33% व रेपिड में 17.17% पॉजिटिव केस:
मेडिकल कॉलेज शिवपुरी से 408 सैंपल टेस्टों की रिपोर्ट जारी की गई है। जिसमें 238 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इस लिहाज से बुधवार को आरटीपीसीआर में 85.33% पॉजिटिव केस रहे हैं। जबकि रेपिड एंटीजन टेस्ट से 798 की रिपोर्ट जारी की गई है जिसमें 168 संक्रमित निकेल हैं। रेपिड में 17.17% पॉजिटिव केस हैं।

आइसोलेशन वार्ड में 29 बेड और आईसीयू में चार बेड खाली:
मेडिकल कॉलेज शिवपुरी के हॉस्पिटल में आइसोलेशन वार्ड में ऑक्सीजन के 90 बेड में से 61 बेड भरे हुए हैं। जबकि आईसीयू में 40 में से 36 बेड भरे हैं। इस तरह आइसोलेशन में 29 और आईसीयू में 4 बेड खाली हैं। दूसरे गंभीर मरीज रेफर होकर आते हैं तो बेड की अभी कोई कमी नहीं पड़ेगी।

कॉलेज हॉस्पिटल : अब तक 290 मरीज भर्ती, 133 ठीक हुए, 43 की जान गई:
20 अप्रैल को चालू मेडिकल कॉलेज के हॉस्पिटल में कुल 290 मरीज अभी तक भर्ती हुए जिनमें से 133 मरीजों का इलाज कर डिस्चार्ज करने का दावा किया है। हालांकि इस दौरान 43 मरीजों की जान चली गई। कॉलेज में हर दिन मौतें जारी हैं। बुधवार को भी पांच मरीजों की मौतें दर्ज की गईं हैं। वहीं अन्य दिनाें की तुलना में बुधवार को 12 नए मरीज भर्ती हुए हैं। जबकि 15 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है।