4 मासूमों की मौत के बाद जागा PHE, तत्काल डाली मोटर, तालाब का पानी पी रहे थे ग्रामीण - kolaras News

कोलारस। जिले के कोलारस क्षेत्र में ग्राम पंचायत बैरसिया में बीते दिनों 4 मौत के बाद कलेक्टर और सीएमएचओ को मानव अधिकार आयोग ने नोटिस जारी कर दिया है। 4 मौत के बाद आज तक प्रशासन यह तय नहीं कर पाया कि इन बच्चों की मौत का कारण क्या है। इस मामले में प्रशासन ने गांव के लगभग 15 लोगों का कोरोना सेम्पल भी लिया है जिसमें 4 लोगों की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है।

इस दौरान ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि यह पूरा मामला पानी से हुआ है। उसने गांव में पानी की परेशानी है। जिसके चलते वह तालाब का पानी पीने को मजबूर है। ग्रामीणों का कहना है गंदा पानी पीने से उनके गांव में यह हालात हो रही है। हालांकि पहले ग्रामीण तरबूज खाने से मौत की बात कह रहे थे। इस मामले की शिकायत ग्रामीण कई बार पीएचई के अधिकारीयों से कर चुके थे। परंतु आज दिनांक तक कोई सुनवाई नहीं हुई। जिसके चलते ग्रामीण तालाब का पानी पीने को मजबूर है। माना यह जा रहा है इसी के चलते हैजा से बच्चों की मौत हो रही है।

आज जैसे ही ग्रामीणों ने यह आरोप लगाए तो तत्काल शिवपुरी समाचार डॉट कॉम की टीम ने यह परेशानी पीएचई विभाग को अबगत कराया। जैसे ही 4 मौतों का कारण बनता पीएचई विभाग दिखा तत्काल आनन फानन में 1 बोर में मोटर डाल दी है। हांलाकि बच्चों की मौत का क्या कारण है यह अभी भी रहस्य बना हुआ है।