सेना भर्ती: उप्र की मार्कशीट और मप्र के मूलनिवासी के टंटे में 5 युवक बहार, युवक ने दी बस को फूकंने की धमकी

शिवपुरी। शिवपुरी के फिजीकल कॉलेज ग्राउंड में चली रही सेना की भर्ती रैली के दौरान दस्तावेज परीक्षण के समय मार्कशीट उत्तर प्रदेश और मूल निवासी मप्र का पया गया, ऐसे पांच युवाओं को दौड़ में शामिल नहीं किया गया।

फिजीकल थाना पुलिस ने पूछताछ करने के बाद युवकों को बाहर भेज दिया।वही दौड में असफल युवक ने बस कंडक्टर से किराए के विवाद को लेकर बस फूंकने की धमकी दी,जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

रविवार को सेना की भर्ती रैली में भिंड, मुरैना, ग्वालियर और गुना जिले के 5777 युवाओं को कॉल लेटर के साथ बुलाया गया था। दौड़ में 4200 युवाओं को शामिल किया गया और 1600 मीटर दौड़ में 333 युवा ही सफल हाे पाए। दौड़ से बाहर हुए युवाओं में से ग्वालियर, मुरैना व भिंड के युवाओं को संबंधित क्षेत्र की बस में बिठा दिया।

लेकिन राहुल पुत्र हंसराज सिंह सिकरवार निवासी नंदपुरा तहसील जौरा जिला मुरैना किराए को लेकर बस कंडक्टर से झगड़ने लगा। दूसरे युवाओं को भी उकसाते हुए कहा कि बस में आग लगा देंगे। फिजिकल टीआई सुनील खेमरिया ने बताया कि सूचना पर युवक को हिरासत में ले लिया और धारा 151 के मामले में एसडीएम कोर्ट में पेश किया, जहां उसे जमानत दे दी गई।

भर्ती रैली के दौरान कुछ युवाओं की मार्कशीट उत्तर प्रदेश और मूल निवासी मुरैना व भिंड जिले का था। चूंकि भर्ती रैली मध्यप्रदेश के 13 जिलों में आयोजित की जा रही है। दस्तावेज संदिग्ध होने पर युवकों को दस्तावेज परीक्षण के दौरान ही बाहर कर दिया। सेना के अधिकारियों ने दस्तावेजों को लेकर बार-बार अनाउंसमेंट किया तो कई युवा लाइन से निकलकर बाहर चले गए।