नाम कट जाने से भडके MLA वीरेन्द्र, प्रभारी मंत्री को धोया, खडे करे कई सवाल

शिवपुरी। आज की सबसे बडी खबर जिले के कोलारस अनुविभाग के पूर्व विधायक महेन्द्र सिंह यादव के ग्रह ग्राम खतौरा से आ रही है। जहां आज प्रशासन द्धारा आयोजित शासकीय कार्यक्रम आपकी सरकार आपके द्धार कार्यक्रम में भाजपा के तेजतर्रार विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी को इस कार्यक्रम में आयोजको की अनदेखी का सामना करना पडा। जिसपर से विधायक रघुंवशी भडक गए और उन्होंने जबरन माईक लेकर भरी मंच से ही प्रभारी मंत्री सहित पूरे प्रशासन को खरी खरी सुनाई।

जानकारी के अनुसार आज प्रशासन द्धारा जिले के कोलारस क्षेत्र के ग्राम खतौरा में आपकी सरकार आपके द्धार कार्यक्रम का आयोजन किया रखा गया था। जिसमें मुख्यातिथि के रूप में प्रभारी मंत्री प्रधुम्मन सिंह तोमर को आमंत्रित किया गया था। इस कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर क्षेत्रीय विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी को बुलाया गया था।

कार्यक्रम अपने निर्धारित समय से प्रारंभ हुआ। परंतु बीच कार्यक्रम में ही मंत्री प्रधुम्मन सिंह तोमर को अर्जेन्ट में निकलना पडा और उन्होने तत्काल में आयोजकों से इस कार्यक्रम में लास्ट स्पीच कराने की बात कही।

मंत्री प्रधुम्मन सिंह तोमर की स्पीच से पहले आयोजित इस कार्यक्रम में विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी की स्पीच रखी गई थी। परंतु समय का अभाव होने के चलते आयोजकों ने वीरेन्द्र रघुवंशी की स्पीच को बीच में से काटते हुए प्रभारी मंत्री को अपना पक्ष रखने के लिए मंच से आमत्रिंत कर दिया। उसके बाद प्रभारी मंत्री ने मंच पर अपने विचार रखे। प्रभारी मंत्री की स्पीच समाप्त होते ही वीरेन्द्र रघुवंशी अपना आप पर काबू नहीं रख सके और वह आयोजकों के बिना बोले ही माईक थामकर मंच पर जा पहुंचे।

जहां उन्होंने मंत्री के सामने ही कहा कि इस क्षेत्र के ढाई लाख लोगों ने विधायक एक वीरेन्द्र रघुवंशी नाम के व्यक्ति को अपना विधायक चुना है। इस क्षेत्र में कार्यक्रम है। मेरा अधिकार बनता है कि में क्षेत्र की समस्याओं को आपके समक्ष रखूं।

विधायक रघुवंशी ने मंच से बोलते हुए प्रभारी मंत्री प्रधुम्मन सिंह तोमर से कहा कि आप इतनी जल्दी में है तो मेहरवानी करके 5 मिनिट का अधिक समय निकालकर आईएगा। और किसी भी क्षेत्र में आप जाए मध्यप्रदेश में वहां क्षेत्रीय विधायक भाईयों की तरफ से आग्रह है कि उन्हें मंच उनका अधिकार है कि क्षेत्र की समस्या रखने का मौका दिया जाए।

इतना ही कहकर में अपनी बात को रखूंगा। में किसी तरह का व्यवधान कार्यक्रम में नहीं रखना चाहता। अगर आपसे भूल हुई है तो उसको सूचित कर रहा हूं। बैसे मंत्री जी के बाद मुझे मंच से नहीं बोलना चाहिए। लेकिन माननीय मंत्रीजी को यह गरिमा रखनी चाहिए कि क्षेत्रीय विधायक अगर मंच पर है तो उसे अपने क्षेत्र की समस्या मध्यप्रदेश सरकार के बीच रखने का मौका देना चाहिए। यह सदन का भी नियम है। और प्रशासकीय कार्यक्रम का भी नियम है। में प्रशासन से भी आग्रह करना चाहता हूं कि जो गलती आज उन्होंने मंच से की है।

भले ही वह मंच के बैनर से मेरा कोई ताल्लुकात नहीं है। इस मंच के बैनर पर भी प्रोटोकॉल का पालन नहीं हुआ। इस बैनर पर जिलाध्यक्ष का फोटों गायब है। जबकि वह जिला पंचायत के अध्यक्ष भी है। उसके बाबजूद भी इस बैनर पर जनपद पंचायत अध्यक्ष का फोटो है। यह प्रोटोकॉल का पालन नही हुआ। में क्षेत्रबासियों को बताना चाहता हूं। कि आप सब ने मुझे भरोसा देकर जो आर्शीवाद दिया है। में जन जन की सेबा में एक एक साथ पल पल लगा दूंगा में किसी भी तरह पीछे नहीं हटूंगा।