धरने पर बैठे पार्षदों ने शासकीय वाहनों की छीनी चाबियां,चालकों ने जडी शिकायत,सीएमओ बोले होगी FIR

शिवपुरी। अपनी विभिन्न मांगों को लेकर धरने पर बैठे पार्षदों ने नगरपालिका के कार्यों में हस्तक्षेप करना शुरू कर दिया है। कल नगरपालिका के वाहनों की प्रदर्शनकारी पार्षद और पार्षद पतियों ने चालकों से चाबियां छीन ली और उन्हें काम पर नहीं  जाने दिया इससे नाराज होकर वाहन चालकों ने प्रदर्शनकारी पार्षद संजय परिहार, लालजीत आदिवासी, पार्षद मनीषा गौतम के जेठ क्रांति गौतम और पार्षद नीलम बघेल के पति अनिल बघेल के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग करते हुए एक शिकायती आवेदन सीएमओ को सौंपा है। वहीं सीएमओ केके पटेरिया ने जांच के बाद पार्षदों के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने की बात कही है।

जानकारी के अनुसार गौशाला में कल एक गाय मरी पड़ी थी जिसकी सूचना नगरपालिका अधिकारियों को वहां के लोगों के द्वारा दी गई। जिसे उठाने के लिए नपा प्रशासन ने वाहन चालक नरेंद्र शर्मा को निर्देशित किया जो अपना ट्रैक्टर क्रमांक एमपी 33-4961 लेकर गंतव्य को जाने के लिए रवाना हुआ तभी धरने पर बैठे पार्षद संजय परिहार और उनके सहयोगी क्रांति गौतम व अनिल बघेल ने ट्रैक्टर की चाबी छीन ली और उसे जाने से रोक दिया।

साथ ही चालक के साथ अभद्रता कर दी। वहीं जेसीबी चालक इमरान से भी जेसीबी की चाबी छीन ली वहीं नगरपालिका को कुछ कर्मचारियों को काम करने से रोक दिया। उक्त तीनों कर्मचारियों ने पृथक-पृथक रूप से पार्षदों की शिकायत आवेदन देकर की है। कर्मचारियों का कहना है कि पार्षदों ने धरना प्रदर्शन की आड़ में नगरपालिका के कार्य को प्रभावित करने की योजना बनाई है और उन्होंने धरना स्थल पर लगाए गए लाउड स्पीकरों का मुंह भी नगरपालिका कार्यालय की ओर किया है जिस कारण तेज आवाज से कर्मचारी काम नहीं कर पा रहे हैं। इन तीनों आवेदनों को लेकर नगरपालिका प्रशासन ने जांच शुरू कर दी है।

इनका कहना है-

पार्षद पिछले पांच साल से वार्ड का विकास करने में अक्षम थे, लेकिन जब जैसे ही चुनाव नजदीक आ गए हैं पार्षदों को वार्ड के विकास की चिंता होने लगी है जो अब अपनी इसी नाकामी को छुपाने के लिए धरना प्रदर्शन की आड़ ले रहे हैं। साथ ही धरने की आड़ में वह नगरपालिका के कार्य को भी प्रभावित कर रहे हैं। कल चालकों से शासकीय वाहनों की चाबियां छुडऩा और उन्हें कार्य पर नहीं जाने देना आपराधिक श्रेणी में आता है और नगरपालिका अधिकारियों को ऐसे पार्षदों और उनके सहयोगियों के  खिलाफ शासकीय कार्य ेमें बाधा का मामला दर्ज कराना चाहिए।
विजय तिवारी, वरिष्ठ अभिभाषक शिवपुरी

मुझे शिकायत प्राप्त हुई है और उन शिकायतों की जांच की जा रही है अगर जांच में पार्षद और उनके सहयोगी दोषी पाए जाएंगे तो उनके खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने की कार्यवाही भी की जाएगी।
केके पटेरिया, मुख्य नगरपालिका अधिकारी शिवपुरी