बडी खबर :नान के DM और गोदाम संचालक में वाकयुद्ध्, 30 हजार क्विलटंल माल खराब

शिवपुरी। श्रीजी बेयर हाउस कोलारस से खबर आ रही हैं कि गोदाम में रखे अमानक चने की नीलामी के लिए आज शटर खोली गई हैं। बताया जा रहा हैं कि आज गोदाम में रखे 3386 क्विटंल चने की नीलामी होनी थी। गोदाम के शटर उठते ही उसके अंदर जो माल रखा हैं उसकी स्थिती को देखते हुए अधिकारियो की स्थिती खराब हो गई,इस कारण नीलामी के लिए प्रशासन के लिए तैनात नॉन की डीएम ओर गोदाम संचालक में वॉक युद्ध् हो गया। कारण बताया जा रहा हैं कि गोदाम में रखा पूरा चना और गेहूं जिसकी मात्रा लगभग 30 हजार क्विटल बताई जा रही हैं वह पूरा का पूरा खराब होने की स्थिती में हैं।

जानकारी के अनुसार जिले में किसानो की चने की सरकारी खरीद की गई थी। शिवपुरी का यह चना खरीद काण्ड जब सुर्खियो में आया थ जब एसडीएम कोलारस ने चने में सिंध की रेत मिलाते हुए पकडा था। चने अमानक खरीद शिवपुरी की मीडिया में छाई रही थी। सिंध की रेत मिलाते हुए कोलारस एसडीएम ने श्रीजी बेयर हाउस पर ही पकडा था।

बताया जा रहा हैं कि जिले में खरीदे गए चने को नान ने अमानक घोषित कर दिया। और बिना जांच के ही इस पूरे गोदाम को सील कर दिया गया। इस गोदाम में अमानक चने की कुल संख्या 3386 क्विटंल बताई जा रही थी। इस गोदाम को कलेक्टर शिवपुरी के आदेश से सील कर दिया गया था,आज इस गोदाम को डिप्टी कलेक्टर आरएस बालोठिया के मौजूदगी में खोला गया। बताया जा रहा हैं कि माल की नीलामी के बाद किसानो का भुगतान किया जाऐगा।

बताया जा रहा हैं कि इस गोदाम के संचालक रोहित बिदंल ने इस गोदाम को खोला तो नान के डीएम अरूण जैन और गोदाम प्रभारी में आपस में वाकयुद्ध् शुरू हो गया। कारण बताए जा रहे है कि गोदाम  में रखा कौनसा चना अमानक हैं किसी को जानकारी नही हैं गोदाम में इस समय 12 हजार क्विटल चना और 18 हजार क्विटंल गेहूं रखा हैं।

पिछले 3 माह से गोदाम सील होने के कारण यह पूरा माल खराब होने कि स्थिती में पहुंच गया हैं। लगातार बारिश होने के कारण माल में फफूद जैसे रोग हो गए हैं,इसका उचित रखरखाव नही किया गया। प्रशासन के गलत निर्णय के कारण यह माल खराब हो गया। नीलमी कितने माल की होगी ओर कब होगी अभी इसकी चर्चा गोदाम पर मौजूद अधिकारियो के बीच चल रही हैं।