खनियांधाना में पुलिस हिरासत में मौत: पीडि़ता के परिजनों पर हत्या का मामला दर्ज | khaniyadhana News

खनियांधाना। जिले के खनियाधाना में कल दोपहर छेडख़ानी के आरोप में पुलिस द्वारा पकड़े गए आरोपी शोभाराम लोधी की पुलिस अभिरक्षा में मौत हो जाने के बाद कस्बे में स्थिति तनावपूर्ण हो गई है। मृतक के परिजनों का आरोप है कि  पुलिस द्वारा बेरहमीपूर्वक द्वारा की गई पिटाई से शोभाराम की मौत हुई है जबकि पुलिस का कहना है कि पीडि़ता के परिजनों द्वारा की गई पिटाई से शोभाराम की मृत्यु हुई है।

पुलिस ने इस मामले में पीडि़ता के ससुर प्यारेलाल पाल सहित अन्य आरोपियों पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया है जिन अन्य आरोपियों पर मामला दर्ज हुआ है। उनके नाम हैं रजना बघेल, भागीरथ पाल, केरन सिंह पाल और प्यारेलाल का लडक़ा। भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया है कि पुलिस की पिटाई से शोभाराम की मृत्यु हुई है और टीआई सहित अन्य पुलिसकर्मियों पर हत्या का मामला दर्ज होना चाहिए।

पिछोर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़े प्रीतम लोधी ने मृतक के परिजनों सहित थाने का घेराव शुरू कर दिया है। श्री लोधी की मांग है कि चार दिन के भीतर पुलिसकर्मियों पर मामले दर्ज नहीं हुए तो वह जनता को साथ लेकर आंदोलन करेंगे। धरना स्थल पर भाजपा जिलाध्यक्ष सुशील रघुवंशी सहित अन्य जिले के अन्य वरिष्ठ भाजपा नेता पहुंच गए हैं।

जानकारी के अनुसार कल दोपहर शोभाराम लोधी पुत्र रामप्रसाद लोधी निवासी रमपुरा ने एक महिला के साथ छेडख़ानी कर दी थी। इसके बाद आरोप है कि महिला के परिवारजनों ने उसकी निर्ममतापूर्वक मारपीट कर दी। एसडीओपी रत्नेश सिंह तोमर ने बताया कि पीडि़ता के परिजनों ने गुस्से में आकर लात घूंसे और लाठियों से शोभाराम को बुरी तरह पीटा जिससे उसके शरीर में अनेक  स्थानों पर चोटें आई हैं।

इसके बाद पीडि़ता के परिजनों ने डायल 100 बुलाकर उसे पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने आरोपी शोभाराम के खिलाफ भादवि की धारा 354 के तहत कायमी कर ली। मृतक के भाई शिवराज सिंह लोधी का आरोप है कि महिला के परिजनों द्वारा मारपीट करने के बाद पुलिस ने भी शोभाराम की मारपीट की थी जिसकी शिकायत वह थाने में लिखाने के लिए पहुंचे थे, लेकिन पुलिस ने महिला के परिजनों पर मारपीट का मामला दर्ज नहीं किया।

मृतक के भाई केरन सिंह लोधी का कहना है कि पुलिसकर्मियों ने उसे भी बुरी तरह पीटा। बाद में शिवराज बेहोश होकर थाने में गिर गया। इसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। रात में ही परिजन लाश लेकर थाने पहुंचे और टीआई सहित स्टाफ पर शिवराज को मारपीट का आरोप लगाया। हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने रात में पांच आरोपी जिनमें छेड़छाड़ का शिकार हुई महिला के ससुर प्यारेलाल पाल और उसके देवर सहित भागीरथ पाल, रचना बघेल और केरन सिंह पाल के खिलाफ भादवि की धारा 302 के तहत कायमी कर ली।

भाजपा नेता प्रीतम लोधी के आने के बाद मामले ने पकड़ा तूल

पुलिस पर आरोप की बात पर एसडीओपी रत्नेश सिंह तोमर ने मृतक के परिजनों से मामले में जांच की बात कही गई। तब परिजन शांत हुए, लेकिन आज सुबह भाजपा नेता प्रीतम लोधी के नेतृत्व में बड़ी संख्या में लोग थाने का घेराव करने पहुंचे। जहां भाजपा नेता ने खनियाधाना टीआई सुधीर सिंह कुशवाह और थाने में पदस्थ दीवान को हटाने की मांग करते हुए मांग की है। साथ ही अल्टीमेटम दिया है कि चार दिनों में अगर कोई कार्यवाही नहीं हुई तो वह एक बड़ा आंदोलन करेंगे। इस दौरान एसपी राजेश सिंह  चंदेल भी खनियाधाना पहुंचे जहां उन्होंने स्थिति का जायजा लिया।

टीआई और दीवान ने मृतक और उसके भाई को पीटा था : प्रीतम लोधी

थाना परिसर में धरना प्रदर्शन कर रहे भाजपा नेता प्रीतम सिंह लोधी ने आरोप लगाया है कि टीआई सुधीर सिंह कुशवाह और दीवान ने शोभाराम की निर्ममतापूर्वक मारपीट की थी जिससे उसकी मौत हो गई। वहीं पुलिस ने उसके भाई केरन सिंह लोधी को भी पीटा था। जिससे उसे भी चोटें  आई है। उनका कहना है कि  पुलिस की इस गुंडागर्दी के कारण आमजन काफी भयभीत है और उनके क्षेत्र में भय का माहौल बना हुआ है।

छोटे भाई की लाश देखकर बड़ा भाई हुआ बेहोश

थाने से बेहोशी की हालत में अस्पताल ले जाने के बाद डॉक्टरों द्वारा शोभाराम को मृत घोषित करने के साथ ही परिवारजन बिलख बिलखकर रोने लगे इस दौरान उसका बड़ा भाई शिवराज अपने छोटे भाई के शव के पास पहुंचा तो उसे देखकर बेहोश हो गया। वहीं उसकी पत्नि शारदा और मां कपूरी बाई का भी रो रोकर बुरा हाल हो गया था।