SHIVPURI NEWS - इंडक्टेंस एजुकेयर को लगा झटका, कोटा के टीचरो ने किया कोचिंग को ड्रॉप, बच्चों में संशय

Bhopal Samachar

शिवपुरी। शिवपुरी शहर की प्रसिद्ध एजुकेशन इंस्टीट्यूट इंडक्टेंस एजुकेयर का बीते साल की फैकल्टी ने कोचिंग का ड्रॉप आउट कर दिया है। जिससे कोचिंग में पढ़ रहे स्टूडेंट्स मे निराशा का माहौल है,बताया जा रहा है बीते शिक्षा सत्र के वर्ष में जो कोटा की फैकल्टी कोचिंग के बच्चों को नीट आईआईटी,जैसे कॉम्पीशन एग्जाम के लिए बच्चों को गाइड कर रही थी उस फैकल्टी ने कोचिंग को बाय बाय कर दिया है। फैकल्टी के कोचिंग का ड्रॉप करने के कारण अब बच्चे परेशान है कि नई फैकल्टी से तालमेल कैसे बनेगा,इस कारण बच्चों में निराशा का माहौल है वही इसलिए इस साल के एडमिशन लेने वाले स्टूडेंट ने कोचिंग ज्वाइन नही करने का मन बना लिया है।

जैसा कि विदित है प्रत्येक वर्ष नीट और आईआईटी जैसे एग्जाम को क्रैक कराने वाले एजुकेशन संस्था  इंडक्टेंस एजुकेयर  में बीते वर्ष शुभम पारित फिजिक्स एनआईटी कोटा,संतोष यादव गणित एनआईटी बिहार,राहुल गुप्ता केमिस्ट्री एनआईटी कोटा और बायोलॉजी की रचना मेडम एमएससी कोटा बच्चो को कॉम्पिटिशन के एग्जाम के लिए गाईड करा रही थी। शिवपुरी के बच्चो ओर इस फैकल्टी ने नए आयाम गढ़े थे,लेकिन इस साल इन चारो गेस्ट फैकल्टी ने इस कोचिंग को ड्रॉप कर दिया है। इस फैकल्टी के ड्रॉप करने के कारण शिवपुरी को एक झटका सा लगा है।

इस फैकल्टी से बच्चो की अच्छी बॉडिंग बताई जा रही थी,इस कारण ही इस वर्ष का परिणाम बेहतर रहा है। जा बच्चे इस कोचिंग में पढ़कर अपने भविष्य बनाने की तैयारी कर रहे थे और इस वर्ष सफलता के कुछ कदम दूर रह गए थे,वह इस बार भी शिवपुरी में रहकर ही इस कोचिंग में पढकर सफलता प्राप्त करना चाहते थे,लेकिन कोटा की फैकल्टी ने इस कोचिंग को ड्रॉप कर दिया इस कारण बच्चों मे उदासीनता का माहौल है वह भी अन्य किसी मेट्रो शहर मे तैयारी करने का विचार कर रहे है वही नए एडमिशन ले रहे बच्चों को जब ये जानकारी मिल रही है कोटा की फैकल्टी ने इस सस्थान को छोड दिया तो वह भी इस कोचिंग में एडमिशन में लेने से कतरा रहे है। अब देखना होगा की कोचिंग के डायरेक्टर इस कमी को कैसे पूरी करते है। 
G-W2F7VGPV5M