SHIVPURI NEWS - प्रीतम लोधी के विधायक बनते ही बेटे ने दी सिकंदर सिंह के हाथ पैर तोड़ने की धमकी:मामला दर्ज

Bhopal Samachar
भोपाल। शिवपुरी जिले के पिछोर विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी प्रीतम लोधी को विधायक चुने हुए अभी कुछ दिन ही हुए है उससे पहले उनके बेटे पर पडोसी के धमकाने का मामला सामने आया है। प्रीतम लोधी के बेटे पर फरियादी की शिकायत पर ग्वालियर जिले के पुरानी छावनी थाने में मामला दर्ज कर इस मामले की जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार पुरानी छावनी थाना क्षेत्र के जलालपुर निवासी सिकंदर सिंह यादव पुत्र जंडेल सिंह यादव ने रविवार रात को पुरानी छावनी थाना पहुंचकर शिकायत की है कि बीती रात पौने दस बजे उसके मोबाइल पर कॉल आया। कॉल दिनेश सिंह लोधी निवासी जमालपुर का था। कॉल रिसीव करते ही दिनेश सिंह ने उसे धमकी दी थी कि अब उसके पिता विधायक बन गए है और अब उसे कौन बचाएगा। ना उसके हाथ सुरक्षित रहेंगे और ना पैर। धमकाने वाले ने यह भी कहा कि क्या अब वह अपने पैरों पर चल पाएगा।

धमकी के शिकार युवक ने उसे समझाने का प्रयास किया, लेकिन उसने उनकी एक ना सुनी। धमकी के शिकार युवक पूटी बातचीत की रिकॉर्डिंग की है जिसे पुरानी छावनी थाना पुलिस को दी है। पुलिस ने सिकंदर की शिकायत और ऑडियो टेप को आधार बनाकर पुलिस ने धमकाने का मामला दर्ज कर लिया है।


बताया जा रहा है कि सिकंदर यादव से भाजपा विधायक प्रीतम लोधी के बेटे दिनेश की चुनावी रंजिश है। जब दिनेश ने पार्षदी का चुनाव लड़ा था। उस समय चुनाव में खिलाफ जाने पर सिकंदर से उसका विवाद हुआ था। उसी समय से यह विवाद चला आ रहा अब जब पिछोर से दिनेश के पिता विधायक बन गए तो उसने कॉल कर धमकाया है।

9 महीने पहले कर चुके हैं संबंध विच्छेद

करीब 9 माह पहले प्रीतम और उनके बेटे दिनेश के बीच का विवाद इंटरनेट मीडिया पर भी आ गया था। प्रीतम लोधी ने फेसबुक पर लिखा था कि मेरा छोटा लड़का दिनेश लोधी कोई भी व्यक्ति से यदि लेनदेन करता है अगर कुछ गलत लोगों के संपर्क में आकर कोई अपराध भी करता है तो वह स्वयं जिम्मेदार होगा उसका नशा करना, नशेड़ीयों के साथ रहना यह सब चीजें मुझे पसंद नहीं है। मेरा छोटा लड़का दिनेश लोधी आवारा हो चुका है। दिनेश लोधी कांग्रेस से जुड़ा हुआ है। आरोपित दिनेश प्रीतम के चुनाव प्रचार में भी नहीं आया था।

ये बोली पुलिस
इस मामले में पुरानी छावनी थाना पुलिस का कहना है कि धमकी शिकायत दिनेश लोधी के खिलाफ आई थी। जिस पर मामला दर्ज कर जांच की जा रही है। जो तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
G-W2F7VGPV5M