शिवपुरी नेशनल पार्क में भोपाल से टाइगर और पन्ना से उसकी लिव इन पार्टनर आएगी- Shivpuri News

शिवपुरी।
शिवपुरी माधव नेशनल पार्क में बाघो का पुनर्वास होना हैं। माधव नेशनल पार्क में 26 साल बाद बाघ की दहाड़ सुनाई देगी। यह अभी तक तय हो गया था कि शिवपुरी में 5 बाघ भेजे जाएंगे,फिलहाल 3 बाघ ही शिवपुरी आएंगे जो 1 बाघ के रूप में और 2 बाघिन के रूप में होगें। लेकिन अभी तक यह तय नहीं था कि बाघ कहां से लाए जाऐगें।

जानकारी मिल रही हैं कि शिवपुरी माधव नेशनल पार्क में पन्ना नेशनल पार्क से एक युवा बाघिन को शिवपुरी भेजा जा सकता है। पन्ना पार्क प्रबंधन पार्क प्रबंधन शिफ्टिंग के लिए संभावित बाघिनों पर नजर रख रहा है। विशेषज्ञों की टीम के आने के बाद यह तय किया जाएगा कि कौन सी को शिफ्ट किया जाएगा।

पन्ना नेशनल पार्क के कोर एरिया में बाघों की संख्या पहले से ही अधिकतम बाघ धारण क्षमता से अधिक है। इसके अलावा यहां 20 से अधिक शावक एक साल या इससे कम आयु के हैं। तेजी से बढ़ रही बाघों की संख्या के कारण अब बाघों के शिकार के मामले भी सामने आ रहे हैं। बाघों की अधिकता को देखते हुए यहां से बाघिन को माधव नेशनल पार्क भेजने को मंजूरी दी गई है।

एक साल में जन्मे 16 से भी अधिक शावक

पन्ना पन्ना टाइगर रिजर्व की अलग. अलग बाघिनों ने एक साल में 16 से भी अधिक शावकों को जन्म दिया है। हाल में ही दो शावकों के साथ दिखाई दे रही बाघिन के दोनों शावकों की उम्र भी करीब एक साल की हो गई है।

बाघ आएगा राजधानी भोपाल से़

जानकारी मिल रही है कि माधव नेशनल पार्क शिवपुरी में बाघ भोपाल के मौलाना आजाद नेशनल टेक्निकल इंस्टीट्यूट से भेजा जाऐगा। बाघ का चयन भी किया जा चुका है। यह बाघ 3 माह पूर्व ही पकडा गया है इसे जनवरी में ही शिवपुरी शिफ्ट कर दिया जाऐगा। इसके बाद और बाघिन बांधवगढ़ नेशनल पार्क से लाई जा रही हैं।