अपनी बेटी का घर बर्बाद करने दिया आवेदन, बेटी गर्भवती एक साल का बच्चा भी- Shivpuri News

शिवपुरी।
शिवपुरी पुलिस अधीक्षक को बीते रोज एक आवेदन सौंपा गया है। इस मामले में पुलिस अगर कानून का पालन करती है तो दामाद पर अपहरण और बलात्कार के मामले दर्ज होंगे,वही स्वयं की गर्भवती बेटी और 1 साल का बच्चा लावारिस हो जाएंगे,अगर पूरे हालात पर गौर करे तो इस मामले में पुलिस दोषी है साथ में यह आवेदन देने वाले माता—पिता भी। एक नाबालिग बेटी के भागने पर बेटी के बयान बदलवाए,साथ में एक नाबालिग बेटी की शादी भी कर चुके हे।

आइए देखते है इस मामले को कानून और सामाजिक हिसाब से

बैराड थाना क्षेत्र के नारायणपुरा रैय्यन गांव से आए एक परिवार ने शिवपुरी पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल को एक आवेदन सौंपा है। इस आवेदन के अनुसार परिवार ने अपनी नाबालिग बेटी के अपहरण की शिकायत दर्ज कराई है। इस मामले में नाबालिग युवती के परिजनों ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल खड़े किए है। इस मामले में युवती के परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही कर नाबालिग किशोरी को नारी निकेतन भेजने की मांग की है।

कहानी शुरू होती है 12 अप्रैल 2021 से

बीते 12 अप्रैल 2021 को रैय्यन निवासी एक नाबालिग किशोरी अपने घर से गायब हो गई थी। इस मामले की शिकायत पीड़िता के परिजनों ने बैराड थाने में की। जहां पुलिस ने किशोरी के नाबालिग होने के चलते इस मामले में अपहरण की धाराओं में मामला दर्ज कर विवेचना में ले लिया था। उसके तीन माह बाद पुलिस ने उक्त किशोरी को कैलादेवी से दस्तयाब कर पूछताछ की तो किशोरी ने पुलिस को बयान दिए कि वह किसी के साथ नहीं गई बल्कि अकेली गई थी। जिसके चलते पुलिस ने किशोरी को दस्तयाब कर परिजनों को सुपुर्द कर दिया।

कहां चूक हुई पुलिस से

इस मामले में स्पष्ट दिख रहा है कि नाबालिग घर से भागी,लेकिन किसके साथ—यह पुलिस को पता नही,पुलिस नाबालिग के बयानों के आधार पर चली और मामले का निपटारा कर दिया,लेकिन यहां माता—पिता चुप रहे उन्हें पता था कि नाबालिग किसके साथ भागी है। कानून कहता है कि नाबालिग के स्वयं के बयान के मायने नही होते है,परिजन भली भांति परिचित थे कि बेटी का अफेयर किससे चल रहा है और कौन के साथ भागी हैं

फिर घर से गायब हो गई नाबालिग-अब परिजन चुप

पुलिस के द्वारा खोजी गई नाबालिग फिर घर से अपने आशिक के साथ घर से फरार हो गए। परिजनो ने फिर पुलिस को सूचना दी,उधर बेटी ने अपने बॉयफ्रेंड के साथ घर बसा लिया ओर उसके साथ रहने लगी,परिजनों को आपत्ति नहीं की,बेटी का एक बच्चा भी हो गया और वर्तमान में बेटी दूसरे बच्चे को जन्म देने वाली है।

पूरे डेढ़ साल बार सोकर उठे परिजन,पहुंचे SP शिवपुरी के पास

उसके बाद आज डेढ साल बाद फिर से परिजन एसएसपी के पास पहुंचे और कहने लगे कि उसकी बेटी का 15 माह पहले बंदूक की नोक पर अपहरण किया गया है। परंतु पुलिस इस मामले में कोई कार्यवाही नहीं कर रही है। अब पुलिस की कार्यप्रणाली पर ही यहां सवाल खडे कर दिए। अब इस मामले में पुलिस अधीक्षक से कार्यवाही की मांग की।

बेटी है ससुराल श्योपुर जिले के सारंगपुर गांव में

बताया गया है युवती सारंगपुर में अपने ससुराल में अपने पति के साथ रह रही है। बेटी के यहां एक बच्चा भी हो गया है और अब वह फिर से प्रेग्नेंट है। इस मामले में युवती के परिजन चाहते है कि वह वहां न रहकर बालिका सुधारगृह में रहे। अब इस मामले में एक और पहलू सामने आया है जिसमें सामने आया है कि यह बेटी तो नाबालिग है। परंतु परिजनों ने इससे छोटी बेटी की भी शादी कर दी है।