Shivpuri News- आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका 23 से 28 जनवरी तक देंगी जिला मुख्यालय पर धरना

शिवपुरी। मध्य प्रदेश में कार्यरत संपूर्ण आगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाएं लंबे समय से सरकार के सभी कार्यों में अपनी सक्रिय भागीदारी निभा रही है। परंतु उसके बाद भी उन्हें मानदेय से लेकर अन्य सभी सुविधाओं से वंचित किया जा है।

जिस प्रकार सरकार की मंशा उनसे कार्य कराने की है उसी प्रकार उनको अन्य सुविधायें भी उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी सरकार को देना चाहिए लेकिन नहीं दी जा रही हैं जिससे परेशान हैं। इस संबंध में बीते रोज एक बैठक माँ राजेश्वरी दरबार में आयोजित की गई।

जानकारी के अनुसार आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की संघ अध्यक्ष श्रीमती साधना पठाक ने बताया कि पूर्व में सरकार जगाने के लिए हमने एक ज्ञापन के माध्यम से अपनी मांगों को लेकर जिलाधीश अक्षय कुमार सिंह को सौंपा था लेकिन उनकी सुनवाई नहीं की गई। ज्ञापन में उल्लेख किया गया है

कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं को शासकीय कर्मचारी घोषित किया जाए। लेकिन इन महिलाओं की सुनवाई न करते हुए उन्हें लगातार बड़े महिला अमले को अनदेखा किया जा रहा है। सरकार की इन्हीं नीतियों से परेशान होकर म.प्र. आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका संघ संबद्ध भारतीय मजदूर संघ मध्यप्रदेश ने यह निर्णय लिया है कि मप्र के सभी जिलों से अब कार्यकर्ता एवं सहायिका आंदोलन में उतरेगी और सभी जिला में चरणबद्ध आंदोलन किया जाएगा।

इसी तारतम्य में शिवपुरी जिले के अंतर्गत स्थापित सभी आंगनबाड़ी केंद्रों को 23 जनवरी से 28 जनवरी तक बंद रखे जाएंगे और धरना आंदोलन जिला मुख्यालय पर दिया जाएगा। जिससे उत्पन्न किसी भी विपरीत परिस्थितियों के लिए समस्त जवाबदेही शासन और प्रशासन की होगी।