करैरा में जमीन की रजिस्ट्री विवाद में जयदेव में मारी गोली, अस्पताल में भर्ती- karera News

करैरा।
खबर जिले के करैरा थाना सीमा में आने वाले फतेहपुर गांव में एक जमीन खरीदने के विवाद में जमीन बेचने वाले ने जमीन खरीदने वाले को गोली मार दी। बताया गया है कि इस जमीन का एग्रीमेंट डेढ़ साल पूर्व करा लिया था,लेकिन जमीन सोनचिरैया अभ्यारण में आने के कारण रजिस्ट्री होने नहीं हुई थी अब रजिस्ट्री से रोक हट गई और रेट बढ़ने के कारण जमीन विक्रेता पलट रहा था इस कारण यह गोलीबारी की घटना हुई हैं।

मामला फतेहपुर गांव का है इस घटना में घायल जयदेव कोली ने बताया कि उसने गांव के ही शिशुपाल नामदेव से डेढ़ साल पहले एग्रीमेंट पर साढ़े 4 बीघा जमीन खरीदी थी। शिशुपाल नामदेव गांव के दबंग कल्लू रावत के यहां रहता था। चूंकि उस समय सोनचिरैया अभ्यारण होने के चलते करैरा क्षेत्र के 42 गांव में जमीन की रजिस्ट्री पर रोक लगी थी।

शिशुपाल नामदेव से जमीन खरीदने का एग्रीमेंट कर लिया था और उसे 4 लाख रुपए भी दे दिए थे। 2 माह पहले सोनचिरैया अभ्यारण को सरकार ने खत्म कर दिया था। इसके बाद फिर जमीनों की रजिस्ट्री होना शुरू हो गई थी।जयदेव ने बताया कि मैंने शिशुपाल नामदेव से साढ़े 4 बीघा जमीन की रजिस्ट्री कराने के बात कही। रजिस्ट्री कराने की बात 14 दिसंबर को तय हुई थी। लेकिन शिशुपाल आनाकानी करने लगा और रजिस्ट्री नहीं कराई।

आज सुबह जब वह और उसका छोटा भाई रामू जमीन जोतने के लिए खेत पर ट्रैक्टर लेकर पहुंचे थे। उसी वक्त शिशुपाल नामदेव, कल्लू रावत, पर्वत रावत, गोटीराम रावत, राम लखन रावत ने मुझे, भाई और ट्रैक्टर के ड्राइवर को घेर लिया। जब मैंने जान बचाकर भागने की कोशिश की तो कल्लू रावत ने मुझे पैर में गोली मार दी।

गोली चलने की आवाज सुनकर मौके पर अन्य खेत पर काम कर रहे किसान पहुंच गए। जिन्हें देख 5 लोग भाग गए। गोली लगने के बाद उसे घायल अवस्था में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। करैरा थाना पुलिस ने शिशुपाल नामदेव, कल्लू रावत, पर्वत रावत, गोटीराम रावत, राम लखन रावत के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।