कूनो प्रोजेक्ट विश्व 20 की सूची में शामिल होने से अप्रत्य रूप से शिवपुरी जिले को होगा फायदा- Shivpuri News

काजल सिकरवार @ शिवपुरी।
शिवपुरी के पडोसी जिला श्योपुर के कूनो नेशनल पार्क के अंतरराष्ट्रीय चीता प्रोजेक्ट को विश्व की 20 परियोजना में शुमार किया हैं। संस्थान ने इसकी सूचना वन विभाग को दी हैं। कूनो के इस चीता प्रोजेक्ट को विश्व परियोजना में शामिल होने पर शिवपुरी जिले के पर्यटन को भी बढ़ावा मिलने की उम्मीद हैं,शिवपुरी मप्र की पर्यटक के नक्शे पर पर्यटन नगरी के रूप में चिन्हित है। शिवपुरी के माधव नेशनल पार्क में टाइगर प्रोजेक्ट की तैयारी चल रही हैं। अगले वर्ष के जनवरी माह में शिवपुरी के नेशनल पार्क में टाइगर आ सकते हैं।

जैसा कि विदित है कि कूना के चीता प्रोजेक्ट को अंतरराष्ट्रीय परियोजना में शामिल होने के कारण इस प्रोजेक्ट को विश्व स्तर पर पहचान मिली हैं। इस कारण विदेशी पर्यटकों का कूनो की ओर रुख होगा और वाइल्ड लाइफ शोधार्थियों की संख्या भी बढेगी।

PMI ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि चीता परियोजना वन विभाग का काम है विश्व स्तर की परियोजना के रूप में दर्ज किया गया हैं। PMI ऐसी प्रमुख संस्था है जो दुनियाभर में ऐसी परियोजनाओं को सूचीबद्ध करती हैं। 17 सितंबर को नाबीमिया से आठ चीते लाकर नाबीमिया से लाकर कूनो पालपुर में छोड़े गए हैं। इनमे से तीन चीतो को बडे बाडे में छोड दिया गया है बाकी 5 चीतो का ओर छोडने की तैयारी हैं।

शिवपुरी को भी मिलेगी नई पहचान

शिवपुरी वैसे तो पर्यटक नगरी के रूप में पहचाना जाता हैं,लेकिन कुछ वर्षा से पर्यटक शिवपुरी से रूठे हुए हैं लेकिन शिवपुरी के माधव नेशनल पार्क में टाइगर लाने की कवायद चल रही हैं और इसकी तैयारियां तेज हो चुकी हैं अनुमान लगाया जा रहा है कि 2024 में जनवरी माह में टाइगर आ सकते हैं। इसके अतिरिक्त शिवपुरी में छतरी,भदैया कुंड,बाणगंगा,सुरवाया की गढ़ी और पवा,भूरा खो सहित अन्य प्राकृतिक पर्यटन स्थल हैं। जब विदेशी पर्यटक सहित मप्र और अन्य प्रदेशों से आने वाले सैलानी शिवपुरी भी आ सकते हैं। बस शिवपुरी के पर्यटन स्थलों को प्रचार प्रसार करने की आवश्यकता हैं। इससे शिवपुरी में पर्यटन बढ़ने की उम्मीद है जिससे शिवपुरी जिले को राजस्व की आय भी होगी और रोजगार की दिशा में भी फायदा होगा।