राम जी व्यास की किस्मत अच्छी थी, नहीं तो थप्पड़ मारती- गायत्री शर्मा वायरल वीडियो - Shivpuri News

शिवपुरी। शहर की सोशल मीडिया पर एक वीडियो जमकर वायरल हो रहा है,जिसमें नगर पालिका अध्यक्ष शिवपुरी गायत्री शर्मा भाजपा के जिला अध्यक्ष से कह रही है कि रामजी व्यास की किस्मत अच्छी थी नहीं तो मैं उसमें थप्पड़ मार देती। यह वीडियो उस समय का है जब गायत्री शर्मा पार्षद और यशोधरा राजे समर्थक नेताओं के साथ भाजपा जिला अध्यक्ष राजू बाथम के पास पहुंची थी।

सोमवार को नगर पालिका शिवपुरी में नवनिर्वाचित परिषद का प्रथम सम्मेलन था इस परिषद में बडा राजनीतिक घटनाक्रम हुआ कि सम्मेलन के एक दिन पूर्व सांसद केपी यादव ने नगर पालिका शिवपुरी का अपने प्रतिनिधि नपा उपाध्यक्ष के पति रामजी व्यास को बना दिया इससे पूर्व हेमंत ओझा इस पद पर थे।

रामजी व्यास के सांसद प्रतिनिधि बनने के कारण उन्हें परिषद के सम्मेलन में प्रवेश देना पडा। मामला तूल पकड गया। इस बात का विरोध करने के लिए सम्मेलन के बाद गायत्री शर्मा के साथ भाजपा के पार्षद और राजे समर्थक नेता इसमें विधायक प्रतिनिधि भानू शर्मा,भाजपा नगर मंडल विपुल जैमिनी,अध्यक्ष जैमिनी,नगर मंडल अध्यक्ष केपी परमार,भाजपा नेता दिलीप मुदगल,सहित तमाम नेता थे।


वायरल वीडियो में गायत्री शर्मा कह रही  है कि पहले की कोई सूचना नहीं थी,सांसद प्रतिनिधि हेमंत ओझा बैठे उसके बाद हेमंत ओझा उठकर बाहर गया और रामजी व्यास अंदर आया,वह तो उसका समय अच्छा था नहीं तो उसमें थप्पड़ मारकर बाहर निकल देती। फिर बकवास इस तरह से कर रहा था मुझे तो लास्ट तक पता नही था,मुझे क्रोध आ रहा था कि वह सांसद प्रतिनिधि बनकर आया है। परिषद की जिम्मेदार बैठक में इतनी छोछी हरकत क्यों की,यह पार्टी के वरिष्ठ लोगों ने की हैं।

कुल मिलाकर शहर की विकास को छोड़कर भाजपा में अंदरूनी कलह जारी हैं। यह निर्णय लिया गया था कि परिषद की बैठक में पार्षद पति अंदर नहीं आएगा,लेकिन नगर पालिका उपाध्यक्ष सरोज व्यास  के पति रामजी व्यास अचानक से सांसद प्रतिनिधि के रूप में अपना पत्र ले आए और परिषद की बैठक में बैठने के पात्र बनकर आ गए। 

वही यह भी सत्य है कि पार्षद दीप्ति दुबे के पति भाजपा नेता भानू दुबे भी पार्षद पति है और विधायक के प्रतिनिधि के हैसियत से सम्मेलन की बैठक में बैठे थे। वही इस मामले में रामजी व्यास को संपर्क करने का प्रयास किया तो संपर्क नहीं हो सका।