बेटी ने कर दी मां के साथ धोखाधड़ी, कुटीर का पैसा निकलवाने के बहाने हड़प ली जमीन- Pichhore News

सुरेन्द्र शर्मा@ खनियांधाना। खबर जिले के पिछोर विधानसभा में आने वाले खनियाधाना तहसील के आने वाले गांव से आ रही है कि बेटी ने अपनी मां के साथ धोखाधड़ी कर दी। कुटीर के बहाने पैसा निकलवाने के बहाने रजिस्टर आफिस ले जाकर उसकी जमीन की रजिस्ट्री करा दी। अब बुर्जुग अपनी जमीन वापस पाने के लिए आफिसो के चक्कर लगा रही हैं। इस मामले को लेकर तहसीलदार को आवेदन सौंपा हैं।

जानकारी के अनुसार पीड़ित बुजुर्ग विधवा महिला दुर्गिया जाटव निवासी चमरौआ ने बताया कि मुझे मेरी लडकी बैंक व जनपद ले जाने के बहाने मुझे द्यर से लेकर आ गई और साजिश के तहत मुझसे वेरिफिकेशन कराने के नाम पर रजिस्ट्री कार्यालय में ले जाकर रजिस्ट्री कर दी।

बुर्जुग महिला ने रजिष्टार संदीप पाण्डेय पर आरोप लगाया है कि रजिस्ट्री के दौरान रजिस्टार के द्वारा मुझसे कोई औपचारिक पूछताछ नहीं की न ही मुझे बताया की यह हस्ताक्षर रजिस्ट्री कराने के लिए किए जा रहे हैं। सामान्यतः जब कोई भी व्यक्ति कोई भी जमीन की रजिस्ट्री कराने के लिये कार्यालय में जाता हैं तो रजिस्ट्री के दौरान रजिस्टर के द्वारा हस्ताक्षर व फोटो वेरीफिकेशन कराने के पूर्व जमीन संबधी जानकारी विक्रेता से ली जाती हैं।

साथ में यह पूछा जाता है आपके द्वारा कितनी जमीन बेची जा रही हैं और यह कहां पर स्थित हैं और उसका विक्रय करने पर आपको राशि प्राप्त हुई या नहीं और यदि प्राप्त कर ली है तो कितनी राशि प्राप्त कर ली है । ऐसी कोई औपचारिकता रजिस्ट्रार कार्यालय में अधिकारी के द्वारा नहीं की गई जिससे इस रजिस्ट्री के प्रकरण में अधिकारी की भूमिका संदिग्ध नजर आ रही हें बहरहाल पीड़ित बुजुर्ग विधवा महिला जिसके जीवन निर्वाह का एक मात्र आधार 3 बीद्या जमीन थी वह सहारा भी स्वयं की बेटी ने सरकार के नुमाइदो से मिलकर छीन लिया।

बुजुर्ग महिला दुर्गिया जाटव दर दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं। पीड़ित दुर्गिया ने अपना शिकायती आवेदन तहसीलदार रुचि अग्रवाल को लेते हुए कार्यवाही की मांग की हैं।

इनका कहना हैं
पीडिता का आवेदन प्राप्त हुआ हैं उनको पहले रजिस्ट्री पर रोक लगाने हेतु न्यायालय जाने को कहा गया है ताकि नामांतरण न हो सके .
रुचि अग्रवाल ,तहसीलदार खनियाधाना

मेरे द्वारा संबंधित से सभी औपचारिक पूछताछ की गई थी आरोप निराधार हैं
संदीप पान्डेय,उप पंजीयक कार्यालय खनियाधाना