Shivpuri News- BSP नेता कैलाश कुशवाह की विवादित पोस्ट,पुलिस ने लगाई लताड, डिलीट करके माफी मांगी

शिवपुरी। सोशल साइट्स पर धारा 144 लागू होने के बाद भी फेसबुक व अन्य साइट्स पर जातीय विद्वेष फैलानी वाली फर्जी पोस्ट डालने और शेयर करने का चलन कम नहीं हो रहा है। बीते रोज बसपा नेता कैलाश कुशवाह ने दो जातियोंं के बीच मतभेद उत्पन्न करने वाला एक फोटो व पोस्ट शेयर की। जिससे सोशल साइट्स पर बहस छिड़ गई। 

बसपा नेता कैलाश कुशवाह के घर पर दबिश 

जब यह मामला कोतवाली टीआई सुनील खेमरिया के संज्ञान में आया तो उन्होंने बसपा नेता कैलाश कुशवाह के घर पर दबिश दी लेकिन श्री कुशवाह घर नहीं मिले। बाद में उन्होंने फोन से सम्पर्क कर टीआई खैमरिया से अपनी इस गलती पर माफी मांगी और सभी पोस्ट डिलीट करने की बात कही। इस दौरान बसपा नेता ने टीआई खैमरिया से कहा कि वह अपनी गलती स्वीकार करते हैं कि उन्होंने बिना पुष्टि किए यह पोस्ट शेयर कर दी और उन्हें आश्वस्त किया कि भविष्य में वह ऐसा नहीं करेंगे। जिस पर टीआई ने उन्हें फेसबुक पर माफीनामा लिखकर अपनी गलती स्वीकार करने के लिए कहा।

सांसद कठेरिया ने पोस्ट को फर्जी बताया
इस पूरे फैक्ट को यूपी के प्रतिष्ठित एक समाचार ने अपने स्तर पर चैक किया और पड़ताल की। जिसमें समाचार पत्र के माध्यम से सांसद रामशंकर कठेरिया ने इस पूरी पोस्ट को फर्जी करार दिया और सांसद ने बताया कि उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर यह फोटो अपलोड किए थे जो 15 से 22 मई के बीच नगरिया.सरावा क्षेत्र में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के दौरान के थे।

जिसमें वृंदावन के प्रसिद्ध कथावाचक डॉ श्याम सुंदर पाराशर कथा वक्ता थे और 16 मार्च 2022 को पुरी से पधारे शंकराचार्य परम पूज्य श्री निश्चलानंद सरस्वती जी के सानिध्य में उन्होंने एक घंटा व्यतीत किया और उनका आर्शीवाद लिया। उन्होंने कहा कि मीडिया में जो दिखाया जा रहा है, ऐसी कोई घटना मेरे साथ नहीं हुई यह पूरी तरह से असत्य है इसकी मैं घोर निंदा करता हूं और ऐसे लोगों पर कठोर कार्रवाई की मांग करता हूंए जो गलत तथ्य पेश कर भ्रांति फैलाते हैं।

इनका कहना है.
सोशल साइट पर धारा 144 लगी हुई है। पुलिस लगातार नजर बनाए रखी हैं। बीते रोज बसपा नेता द्वारा एक विद्वेष भरी पोस्ट शेयर की गई। जिस पर पुलिस ने तुरंत एक्शन लिया और बसपा नेता को कड़े शब्दों में चेतावनी दी और उनके सभी पोस्ट डिलीट कराकर माफीनामा लिखवाया है। उन्हें इस बात की भी हिदायत दी गई है कि कोई भी पोस्ट अगर उन्होंने बगैर फैक्ट चैक किए शेयर की तो उन पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। अभी उन्हें सिर्फ चेतावनी देकर छोड़ दिया गया है।
सुनील खेमरिया, टीआई कोतवाली