Shivpuri News निकाय चुनाव: मुन्नालाल ने किया प्रचार तो BJP को होगा नुकसान, दूर है इस चुनाव से

शिवपुरी। 2014 के नगर पालिका अध्यक्ष के चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी के रूप मेें जीते मुन्नालाल कुशवाह अब केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ भाजपा में आ गए हैं। लेकिन भाजपा नगरीय निकाय चुनाव में शिवपुरी नगर पालिका क्षेत्र में उनका उपयोग नहीं कर रही है। भाजपा ने प्रचार अभियान से उनको दूर रखा है और एक तरह से उनसे अपना पल्ला झाड़ लिया है।

भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने अपना नाम न छापने की शर्त पर बताया कि पिछले नगर पालिका कार्यकाल में जिस तरह से नपा प्रशासन भ्रष्टाचार का अड्डा बन गया था और जनहित का कोई काम उनके कार्यकाल में नहीं हुआ। इससे जनता उनसे नाराज है और यदि भाजपा ने उन्हें चुनाव प्रचार में उतारा तो इसका खामियाजा नगर पालिका चुनाव में भाजपा को भुगतना पड़ेगा।

यहां तक कि श्री कुशवाह अपनी पुत्रवधु के लिए वार्ड क्रमांक 2 से टिकट मांग रहे थे। उन्हें भी टिकट नहीं दिया गया। श्री कुशवाह अब नगर परिषद कोलारस में पार्टी प्रत्याशियों के प्रचार ेमें जुटे हुए हैं।

2014 में नपाध्यक्ष पद का चुनाव जनता द्वारा किया गया था। इस चुनाव में शहर के हृदय स्थल के वार्ड क्रमांक 1 से 12 तक मतदाताओं ने कांग्रेस प्रत्याशी मुन्नालाल कुशवाह को भरपूर समर्थन दिया था। जिसके फलस्वरूप उन्होंने भाजपा प्रत्याशी हरिओम राठौर को बुरी तरह पराजित किया था। मतदाताओं को उनसे काफी अपेक्षाएं थीं। लेकिन श्री कुशवाह ने अपने 5 साल के कार्यकाल में कोई ऐसा काम नहीं किया, जिससे जनता उन्हें याद रखे।

यहां तक कि सिंध जलावर्धन योजना में वार्डों में पाइप लाइन डालने का कार्य भी उनके कार्यकाल में नहीं हुआ और जल संकट से जनता बुरी तरह त्रस्त रही। सीवेज प्रोजेक्ट का क्रियान्वयन भी वह अपने कार्यकाल में नहीं करा पाए। उनके कार्यकाल में जनता काफी त्रस्त और परेशान रही तथा नगर पालिका प्रशासन भ्रष्टाचार का अड्डा बन गई।

यहां तक कि फर्जी राशन कार्ड के मामले में श्री कुशवाह को खुद जेल जाना पड़ा। श्री कुशवाह के कार्यकाल का खामियाजा ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी लोकसभा चुनाव में भुगतना पड़ा और शहरी क्षेत्र से श्री सिंधिया भारी मतों से पराजित हुए। 2020 में मुन्नालाल कुशवाह ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ भाजपा में आ गए।

लेकिन भाजपा नेताओं ने उनसे लगातार दूरी बनाए रखी। हाल ही में कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष संजय सिंह शिवपुरी आए और उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि यहां 7-7 मंत्री होते हुए भी शहर विकास के मामले में पिछड़ा हुआ है। इसका जवाब देते हुए यशोधरा राजे सिंधिया ने पलटवार किया कि वह किस पर अटैक कर रहे हैं। पिछले नगर पालिका अध्यक्ष पद का चुनाव कांग्रेस ने जीता था। बाईपास तक में सिंध जलावर्धन योजना लेकर आई। लेकिन नगर पालिका वार्डों में डिस्ट्रीब्यूशन लाइन नहीं डाल पाई। उनके निशाने पर मुन्नालाल कुशवाह रहे।