जिसके लिए जग छोडा उसने अब उसे ही छोड दिया,बेटा नहीं तो 3 बेटियों की मां घर बहार - Shivpuri News

शिवपुरी। बीते रोज कलेक्ट्रेट में 3 महिलाएं न्याय मांगने आई थी। एक महिला ने कहा कि उसने अपने पति के लिए जग छोडा उसने अब उसे ही छोड दिया,एक पीडिता को उसकी सास ने इसलिए घर से निकाल दिया कि उसके यहां 3 बेटियां पैदा हो गइ। एक महिला का कहना था कि उसका पति उसकी सौतन के साथ रहता है और उसकी कभी भी मारपीट कर जाता है।

भाग कर शादी की:वकील ने नोटरी कराई,पति ने आग लगा दी
पिछोर थाना क्षेत्र के ग्राम कछौआ निवासी जिस युवक ने आठ साल पहले परिवार और समाज के विरोध की परवाह न कर जिस लड़की से प्रेम विवाह किया, अब दूसरी पत्नी की चाह में उस महिला को बेल्टों से पीट-पीटकर प्रताड़ना देता है। पांच दिन पहले तो उसे घर से बाहर निकाल दिया। महिला ने मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक से की है।

जानकारी के अनुसार ग्राम कछौआ निवासी रतिराम पुत्र हरभजन लोधी की मुलाकात वर्ष 2010 में मनपुरा निवासी सोनम पुत्र अजय कुमार से एक शादी समारोह में हुई थी। शादी समारोह में हुई छोटी सी मुलाकात के बाद दोनों के बीच चार साल तक बातचीत होती रही। इसी दौरान दोस्ती प्यार में बदल गई और रतिराम व सोनम ने शादी करने का निर्णय ले लिया। दोनों के परिवार शादी के लिए तैयार नहीं थे तो उन्होंने घर से भाग कर वकील के यहां नोटरी कराकर प्रेम विवाह कर लिया। दोनों के दो बेटियां भी हुईं।

कुछ समय से रतिराम को दूसरी शादी का भूत सवार हो गया और उसने सोनम को तरह तरह की प्रताड़नाएं देना शुरू कर दिया। पांच दिन पहले उसके पति ने उसे पीट-पीटकर यह कहते हुए घर से निकाल दिया कि अब वह दूसरी पत्नी लेकर आएगा इसलिए लौटकर मत आना। महिला ने पिछोर थाने पर मामले की शिकायत दर्ज कराई लेकिन वहां आवेदन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

नोटरी को जला दिया
सोनम ने जब यह जताने का प्रयास कि वह उसकी पत्नी है। उन दोनों ने कोर्ट में प्रेम विवाह किया है तो रतिराम ने वह शपथ पत्र नोटरी भी जला दी, ताकि सोनम यह साबित न कर सके कि वह उसकी पत्नी है। बकौल सोनम उसके पति ने उसे कहा भी था कि अब वह कैसे साबित करेगी की दोनों की शादी हुई है।

3 बेटियों की मां रानी को सास ने ताने देकर घर से निकाला
रानी ने अपनी 3 बेटियों के‎ ‎ साथ पहुंचकर आरोप‎ ‎ लगाया कि तकरीबन डेढ़‎ ‎ दशक शादी को हो गया।‎ ‎ तीन बेटियों का घर में जन्म‎ ‎ हो गया। पर सास कहती है‎ ‎ कि बेटा नहीं जाना तो तूने‎ ‎ क्या किया। क्योंकि हमारी‎ ‎ सगी सास दुनिया में नहीं‎ ‎ और सौतेली सास हमारे‎ साथ सौतेला व्यवहार कर रही है।

उनके पास खेती और‎ मकान होने के बावजूद उसमें से हमें हिस्सा नहीं दे रहे हैं।‎ कहते हैं तुझे बेटा नहीं है जमीन जायदाद का क्या करेगी।‎ पति मजदूरी जैसा काम करते हैं, जिससे घर खर्च नहीं‎ चलता है। ऐसे में यदि सास हमारी मदद कर दे तो हम घर‎ में रह सकेंगे और खेती से आने वाली उपज से परिवार‎ का भरण पोषण कर सकेंगे।‎

शालू का पति प्रताड़ित करता हैं और सौतन के साथ रहता हैं
मधेपुरा में रहने वाली शालू ने आरोप लगाया कि उसका पति उसे प्रताड़ित करता हैं। शादी के लिए वह दूसरे जिले से उसे भगा कर लाया था। जिससे उसे 2 बच्चे हैं। 12 साल से वह अलग रहने को मजबूर है। शालू ने कहा कि वह मजदूरी कर अपना और अपने बच्चों को भरण पोषण कर रही हैं,लेकिन पति घर में आकर शराब के नशे में अभी भी मारपीट करता हैं और वह दूसरी जगह किसी सोत के साथ रह रहा हैं। ऐसे में उसे अपना अधिकारी चाएि और बच्चों के भरण पोषण के लिए वह पति का साथ चाहती है।