रामनवमी: भक्ति के साथ व्यापार की उन्नति के लिए भी यह दिन, नवरात्र के अखिरी दिन अबूझ मुहूर्त - Shivpuri News

शिवपुरी। इस नवरात्र में ग्रह-नक्षत्रों की शुभ स्थिति की बदौलत हर दिन शुभ योग है। इसके चलते प्रॉपर्टी, वाहन और अन्य चीजों की खरीदारी के लिए नवरात्रि में हर दिन शुभ मुहूर्त है। ज्योतिषियों के मुताबिक, देवी आराधना के नौ दिनों के दौरान की गई खरीदारी से समृद्धि और सुख बढ़ता है। नवरात्र में खासतौर से भूमि-भवन और वाहनों की खरीदी-बिक्री शुभ मानी जाती है। यही नहीं, इस साल तिथियों की घट-बढ़ नहीं होने से देवी आराधना के लिए पूरे नौ दिन मिले हैं। यह अपने आप में शुभ संयोग है।

रामनवमी तक हर दिन शुभ मुहूर्त

इस बार घट स्थापना तीन राजयोगों और शुभ मुहूर्त में हुई है। साथ ही रामनवमी तक खरीदारी के लिए सर्वार्थसिद्धि, पुष्य नक्षत्र, बुधादित्य, शोभन, पद्म और रवियोग जैसे खास मुहूर्त बने हैं। इन संयोगों में प्रॉपर्टी, वाहन, फर्नीचर, भौतिक सुख-सुविधाओं के सामान और मांगलिक कामों के लिए खरीदारी शुभ रहेगी।

अष्टमी-नवमी पर शुरुआत शुभ

ज्योतिषाचार्य पं. प्रफुल्ल भट्ट बताते हैं कि चैत्र नवरात्र की प्रतिपदा, अष्टमी, नवमी तिथि नई शुरुआत और खरीदी-बिक्री के लिए शुभ होती है। अश्विनी, रोहिणी, मृगशिरा और पुष्य नक्षत्र खरीदारी के लिए शुभ माने जाते हैं। इन तिथि-नक्षत्रों में नई शुरुआत में सफलता मिलना लगभग तय होता है।

इनकी खरीदारी फलदायी

नवरात्र के दौरान बन रहे शुभ योगों में वाहन, संपत्ति, आभूषण, कपड़े, बर्तन और इलेक्ट्रॉनिक चीजों की खरीदारी की जा सकती है। ये नौ दिन संसार की रचना करने वाली शक्ति का पर्व है। इसलिए सांसारिक उपभोग के साधन और भौतिक सुख-सुविधाओं की खरीदारी की जा सकती है। इन दिनों में शस्त्र, औजार और ऊर्जा देने वाली चीजों की खरीदारी भी शुभ होता है।

इस साल चार रवि पुष्य का योग

इस बार नवरात्रि के आखिरी दिन यानी रामनवमी पर रवि पुष्य योग बनेगा। इससे पहले ऐसा शुभ संयोग 1 अप्रैल 2012 को बना था। जब रवि पुष्य योग पर चैत्र नवरात्र खत्म हुए थे। 10 अप्रैल, रविवार को सूर्योदय के साथ पुष्य नक्षत्र शुरू होगा, जो अगले दिन सूर्योदय तक रहेगा। इस साल चार रवि पुष्य रहेंगे। लेकिन उनमें ये ही एक ऐसा है जो पूरे 24 घंटे रहेगा। ये खरीदारी का अबूझ मुहूर्त भी होगा। इसके बाद 6 अप्रैल 2025 को फिर ऐसा शुभ योग बनेगा।

किस दिन कैसा संयोग

8 अप्रैल, शुक्रवार- बुधादित्य, शोभन, पद्म योग बनने से इस दिन ज्वेलरी, सुख-सुविधा फर्नीचर, सजावटी सामान की खरीदारी करना शुभ रहेगा।
9 अप्रैल, शनिवार - अष्टमी को पुनर्वसु नक्षत्र से छत्र योग बन रहा है। घर, होटल या अपार्टमेंट के लिए प्रॉपर्टी खरीदारी, निर्माण शुभ रहेगा।
10 अप्रैल, रविवार - सर्वार्थसिद्धि, रवि पुष्य और रवि योग होने से हर तरह के शुभ काम के लिए ये दिन अबूझ मुहूर्त रहेगा।