पोहरी स्वास्थ्य शिविर: डेढ हजार लोगों को मिला स्वास्थ्य लाभ, 275 आयुष्मन वितरित - Shivpuri News

शिवपुरी। आजादी का अमृत महोत्सव अंतर्गत सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पोहरी में गतदिवस स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया गया। जिसमें ग्रामीण 1481 रोगियों का उपचार हुआ। मेले में 275 आयुष्मान कार्ड तथा 351 हेल्थ आईडी बनाकर तत्काल वितरित की गई। स्वास्थ्य मेले का शुभारंभ सांसद विवेक नारायण शेजवलकर तथा लोक निर्माण राज्य मंत्री सुरेश धाकड़ "राठखेडा" सहित स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने किया। मेले में स्वास्थ्य लाभ लेने वाले ग्रामीणों सहित जनप्रतिनिधियों ने स्वास्थ्य मेले की गरिमा बढाई।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.पवन जैन ने जानकारी देते हुए बताया कि पोहरी के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में विकासखण्ड स्तरीय स्वास्थ्य मेले का आयोजन गरिमामई माहौल में हुआ। मेले में उपस्थित आमजन, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कर्मचारियों को संबोधित करते हुए सांसद विवेक शेजवलकर ने कहा कि पहला सुख निरोगी काया शास्त्रों में बताया गया है। उसी सुख की अनुभूति के लिए इस प्रकार के शिविरों की आवश्यकता है जो छोटे से लेकर बड़े स्वास्थ्य समस्याओं का निदान कर सकें। मल्टी स्पेशियलिटी शिविरों का आयोजन होते रहना चाहिए।

स्वास्थ्य मेले में संबोधित करते हुए प्रदेश के लोक निर्माण राज्यमंत्री सुरेश धाकड़ राठखेडा ने कहा कि पोहरी में मल्टी स्पेशियलिटी स्वास्थ्य मेला पहली बार आयोजित हो रहा है। इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को जाता है। मध्य प्रदेश सरकार की मंशा सबका साथ सबका विकास है। सरकार अब बुर्जुग माता पिता को हवाई जहाज से तीर्थ यात्रा कराएगी।

कार्यक्रम में भाजपा मण्डल अध्यक्ष आशुतोष जैमनी ने स्वास्थ्य मेले के लिए स्वास्थ्य विभाग का आभार व्यक्त करते हुए इस प्रकार के मेले निरंतर होने पर जोर दिया तथा इस मेले का लाभ लेने का आह्वान किया। कार्यक्रम को जनपद उपाध्यक्ष अरविंद धाकड ने भी संबोधित किया।
जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.संजय ऋषीश्वर ने जानकारी देते हुए बताया कि स्वास्थ्य मेले में पैथोलॉजी जांच, दवाएं, विशेषज्ञों द्वारा परीक्षण, परिवार कल्याण, एड्स पर परामर्श, कुष्ठ, टी.बी. की जांच, एक्स रे की जांच, मलेरिया स्लाइड सहित अन्य सेवाएं निशुल्क प्रदाय की जा रही है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.पवन जैन ने बताया कि स्वास्थ्य मेले में नॉन कम्युनिकेबल डिजीज हाइपरटेंशन, डायबिटीज के रोगियों की संख्या 35, स्त्री रोग से पीड़ित 253, नाक कान गले रोग से पीड़ित 51, मानसिक रोगी 12, कुष्ठ रोग के संभावित 21, टीबी रोग से पीड़ित 35, शिशु रोग से ग्रसित 73, नेत्र रोग से पीड़ित 105, ईएनटी रोग 51, दंत रोग के 28, हड्डी रोग से पीड़ित 200, मेडिसिन 485, अस्थमा के 19 कैंसर के 11 तथा हृदय रोग के 26 संभावित रोगियों का परीक्षण कर निशुल्क दवाएं वितरित की गई। स्वास्थ्य मेले में आयुर्वेद पद्धति से 169 रोगियों ने परीक्षण कराकर उपचार प्राप्त किया। स्वास्थ्य मेले में विभिन्न समस्याओं को लेकर 423 लोगों की ब्लड का निशुल्क परीक्षण कर रिपोर्ट भी तत्काल प्रदान की गई।

स्वास्थ्य मेले में महिला एवं बाल विकास विभाग तथा पंचायत विभाग ने संचालित अपनी योजनाओं की जानकारी देने के लिए स्टॉल लगाए। इसमें स्वास्थ्य विभाग ने परिवार कल्याण, एड्स, मलेरिया आदि पर जानकारी देने काउंटर लगाए।

डॉ.मोना गुप्ता स्त्री रोग, डॉ.आशीष व्यास टीबी रोग, डॉ.चंद्रशेखर गुप्ता मेडीसिन, डॉ.दिनेश अग्रवाल नेत्र रोग, डॉ.ओ.पी.शर्मा अस्थिरोग, डॉ.योगेन्द्र रघुवंशी मानसिक रोग, डॉ.शशि शाक्य दंत रोग, डॉ.देवेन्द्र कौशिक शिशु रोग, सतेन्द्र शर्मा कुष्ठ रोग, डॉ.कोक सिंह उच्चाडिया फिजियोथेरेपिस्ट, रंजीत सिंह ऑडियोलॉजिस्ट, काउंसलर सादिक खान, योग शिक्षक शत्रुधन दीक्षित आदि चिकित्सक उपस्थित थे।