पत्रकारिता की आड मे लूट:मेरी भाभी के साथ छेडछाड भी की हैं अजय राज सक्सेना ने:एसपी को आवेदन - Shivpuri City News

शिवपुरी। खबर एसपी आफिस शिवपुरी से आ रही है कि आज मंगलवार को जनसुनवाई में सहरिया क्रांति के कार्यकर्ता ने एक आवेदन एसपी शिवपुरी को सौंपा हैं,इस आवेदन में सिटी कोतवाली में हुई एफआईआर में धाराओ के बडाने की मांग की हैं। वही आवेदन कर्ता का कहना है कि राजीनामे का दबाब बनाया जा रहा है।

यह है आवेदन जिसे हम जैसा का तैसा प्रकाशित कर रहे हैं
प्रार्थी जगतसिंह आदिवासी निवासी ग्राम अर्जुनगवां, जिला शिवपुरी द्वारा दिये गये आवेदन पत्र पर से हुई प्रथम सूचना रिपोर्ट कमांक 0051/22 पर आरोपीगण अजयराज सक्सैना एवं अनुज शर्मा व अन्य 03 साथी के विरूद्ध धारा 354 छेड़छाड़ एवं लूट की धारा बढ़ाये जाकर आरोपीगण को गिरफतार किये जाने बावत् ।

श्रीमान पुलिस अधीक्षक् महोदय,
प्रार्थी की ओर से आवेदन पत्र निम्नलिखित सेवा में प्रस्तुत है:

यह कि प्रार्थी की रिपोर्ट पर से पुलिस कोतवाली ने आरोपीगण अजयराज सक्सेना एवं अनुज शर्मा व अन्य 03 साथी के विरूद्ध थाना कोतवाली में आवेदन पत्र के माध्यम से रिपोर्ट लेखबद्ध करायी थी, जो उक्त रिपोर्ट में आरोपीगण के विरूद्ध धारा 323, 294, 420 / 34, एवं अनुसूचित जाति एवं अनूसूचित जन जाति की धारा 3 (1) द 3, (1) ध, 3, (2) (VA) के अंतर्गत अपराध क्रमांक 0051 / 2022 दिनांक 21.01.2022 को मामला पंजीबद्ध किया गया था।

2े:यह कि प्रार्थी जगतसिंह ने श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय जिला शिवपुरी को जो शिकायती आवेदन पत्र दिया गया था उसमें स्पष्ट उल्लेख है कि अजयराज सक्सैना एवं उसके साथियों के द्वारा फायनेंस कंपनी की ओट में प्रार्थी की भाभी को अपमानित कर भैया की मारपीट कर गाड़ी खींच लेने बावत् महोदय निवेदन है कि प्रार्थी ने वाहन फायनेंस कराया था।

जिसकी किश्ते समय पर चुकता कर रहा था लेकिन विगत दिनों जब प्रार्थी का भाई अपनी धर्मपत्नी के साथ शिवपुरी बाजार खरीददारी करने आया तभी अजयराज सक्सेना व उसके 04-05 अन्य हट्टे-कट्टे लोग आये और मेरे भाई की पत्नी से जबरन बत्तामीजी कर हाथ पकड़कर गाड़ी से गिरा दिया। जब प्रार्थी के भाई ने पत्नी के साथ दुव्यहवहार करने का विरोध किया तो इन सभी ने मारपीटी कर दी और गाड़ी लूट कर ले गये।

ये बोले कि तेरी किश्ते बाकी है अब तुझे चौगुना हर्जाना देना होगा वर्ना गाड़ी भूल जा। इसके बाद से प्रार्थी व उसका भाई जब भी गाड़ी मांगने जाता है तो उसे यह कहकर वापिस भगा देते है कि नीच सहरिया वाले पहले जुर्माना भर वर्ना कोई भी बाप तुझे बचा नहीं पायेगा। आज जब आया तो मुझे मेरी गाड़ी नहीं लौटाई मुझे जाति सूचक गालियां देकर भगा दिया। महोदय प्रार्थी अत्यन्त गरीब आदिवासी है जो मेहनत करके अपना घर चलाता है।

अजयराज सक्सेना व उसके साथियों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही करने का कष्ट करें। मेरी गाड़ी दिलाने का कष्ट करे। इस आवेदन पर से उक्त कायमी हुई थी किन्तु पुलिस कोतवाली ने भाई की पत्नी के साथ हुए दुव्वयवहार के संबंध में कोई भी धारा उक्त प्रकरण में नहीं लगाई हैं।

तथा प्रथम सूचना प्रतिवेदन में व प्रार्थी के आवेदन में अजयराज सक्सेना एवं 04-05 हट्टे-कट्टे व्यक्तियों द्वारा स्पष्ट मारपीट कर गाड़ी लूटकर ले जाने के संबंध में उल्लेख है किन्तु पुलिस कोतवाली ने आज तक उक्त लूट की धारा भी आरोपीगण के विरूद्ध नहीं बढ़ाई है। आरोपीगण खुलेआम घूम रहे हैं जबकि प्रार्थी की रिपोर्ट में महिला के साथ अभद्रता एवं गाड़ी लूटकर ले गए।