यशोधरा राजे का सपना फूड पार्क: इस पर भी सुनियोजित तरीके से भू माफियाओं ने जमाया कब्जा, जिम्मेदारों ने झाड़ा पल्ला- Shivpuri News

शिवपुरी।
एक तरफ तो शिवपुरी विधायक और कैबिनेट मंत्री शिवपुरी के विकास में जी जान से जुटी हुई है। शिवपुरी में चमचमाती थीम रोड,सिंध जलार्वधन योजना सहित अन्य योजनाएं अब अपने आखरी छौर पर शिवपुरी को सौंगात के रूप में मिलने बाली है। इसी के चलते यशोधरा राजे सिंधिया के प्रयास से शिवपुरी में यशोधरा राजे सिंधिया ने उद्योग विभाग की जमींन पर छोटे छोटे उद्योगों बढाबा देने के लिए फूड पार्क का सपना देखा।

परंतु नगर के बड़ौदी स्थित औद्योगिक क्षेत्र का फूड पार्क सुनियोजित तरीके से भू-माफिया ने अपने कब्जे में कर लिया है। यहां फूड पार्क को विकसित करने के लिए प्रदेश की कैबिनेट मंत्री श्रीमंत यशोधरा राजे सिंधिया ने बड़े स्तर पर कवायद की थी जिसके बाद फूड पार्क विकसित हुआ और यहां आधुनिक ढंग से फूड पार्क को बसाया जाना है। करीब 2 साल पहले यहां प्लाट की ज्यादा कीमत होने के चलते शहर के व्यापारियों ने प्लॉट बुक नहीं किए थे।

लेकिन मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने जब भोपाल में प्रयास किए तो प्लाटों की रेट कम कर दी गई थीं। करीब 200 से ज्यादा की यह दरें अब घटकर 100रूपए वर्ग फिट के अंदर आ गई थी लेकिन इस बात की जानकारी शहर के व्यापारियों को नहीं हो पाई लेकिन दूसरी तरफ भूमाफिया ने यह जानकारी हासिल कर ली और एक के बाद एक सभी प्लाट बुक कर डाले हैं।

अगर बुकिंग की बात करें तो बीते महज 2 दिन के अंदर ही बड़ौदी स्थित फूड पार्क के 85 प्लाटों को बुक कर डाला गया है। इसमें सबसे अहम बात यह है कि इस पार्क में बुकिंग भी अधिकतर राठौर समाज के लोगों ने नाम पर हुई है। समाज के लोगों ने अपने नाते रिश्तेदारों के नाम पर प्लाट बुक कर डाले हैं। अब अधिकतर प्लॉटों की बुकिंग एक जाति के लोगों द्धारा होने से इसमें घोटाले की और इंगित कर रही है।

यहां घोटाले का महत्वपूर्ण कारण यह भी है कि यह प्लॉट उद्योग के लिए अलोर्ट होने थे। परंतु एक समाज के लोगों के पास इतने उद्योग तो है नहीं कि पूरे के पूरे पार्क की बुकिंग करा सके। अब इस घोटाले की जांन जरूरी है।

बताया जा रहा है कि जिला उद्योग केंद्र के एक अधिकारी ने भी अपने रिश्तेदारों के नाम यहां ऑनलाइन प्लाट बुक कर डाले हैं। बता दें कि जिला उद्योग केंद्र के एक अधिकारी ने भी अपने रिश्तेदारों के नाम यहां ऑनलाइन प्लाट बुक कर डाले हैं। बताया जा रहा है कि उसी की सांठगांठ के चलते यहां भूमाफिया ने महाराज श्रीमंत यशोधरा राजे सिंधिया के ड्रीम प्रोजेक्ट वाले फूड पार्क को गिने-चुने लोगों के हवाले कर दिया है।

अभी सस्ते दर पर लिए फिर बेच डालेंगे महंगे दामों में बता दें कि यहां जिस भूमाफिया ने प्लाटों की बुकिंग की है वह अभी सस्ते दर पर प्लाट कब्जा रहा है जबकि बाद में ओने पौने दामों पर यही प्लाट बेच देंगा। इस तरह बड़े पैमाने पर यह घोटाला किए जाने का ताना-बाना बुन लिया गया है।

इस मामले में व्यापारियों का कहना है कि पूरे मामले की जांच की जाए और आनन-फानन में सुनियोजित ढंग से जो ऑनलाइन प्लाटों की बुकिंग की गई है वह प्रक्रिया निरस्त की जा कर दोबारा नए सिरे से ईमानदार प्रक्रिया को ऑनलाइन प्लाटों की बुकिंग की गई है वह प्रक्रिया निरस्त की जा कर दोबारा नए सिरे से ईमानदार प्रक्रिया को अपनाया जाए जिससे शहर के विकास में फूड पार्क का यशोधरा जी का सपना साकार रूप ले सकेगा।

इनका कहना है
यह प्रक्रिया ग्वालियर से संबंधित है और ग्वालियर के ही कार्यालय से ऑनलाइन साइट खोले जाने के बाद प्लाटों की बुकिंग की जानी थी। उन्होंने कहा कि आपने इस गड़बड़ी के बारे में जानकारी दी है। में पता लगाता हूं कि किसने क्या किया है उसके बाद ही कुछ कह सकूंगा।
निरंजन श्रीवास्तव,महाप्रबंधक उद्योग विभाग शिवपुरी।

यह प्रक्रिया आनलाईन है। यह कब हुई है कैसे हुई है। इसकी जानकारी भोपाल स्तर से ही पता लगेगी। मुझे तो जानकारी ही नहीं है यह बुकिंग कब हो गई।
दिनेश श्रीवास्तव,डीएम उद्योग विभाग ग्वालियर