बडी खबर: पकड़े गए ATM से 45 लाख की लूट करने वाले बदमाश, एक साथी शिवपुरी का- Shivpuri News

शिवपुरी। पुलिस ने एक माह पूर्व 11 दिसम्बर को हुई एटीएम लूट को ट्रेस कर लिया हैं। इस मामले में पुलिस में 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर करते हुए लूटे 45 लाख रूपयो में से 6 लाख 20 हजार रुपए जब्त करने में सफलता हासिल की है। 2 आरोपी अभी फरार हैंं इस लूट में प्रयोग की कार को भी जब्त किया गया है।

जानकारी के अनुसार शहर के कमालगंज क्षेत्र के एसबीआई के 2 ATM मशीनो को 11 दिसबंर को अज्ञात बदमाशों ने निशाला बनाते हुए ATM मशीनो को काट कर ले गए। दोनो ATM में लगभग 45 लाख रूपए थे। पुलिस ने इस मामले मे फिजिकल थाने मे मामला दर्ज करते हुए लुटेरों की खोज में लग गई

सीसीटीवी से सुराग लगा मेवात के बदमाश का

बताया जा रहा है कि घटना के समय बदमाशों के चेहरे सीसीटीवी ने आ गए थे। पुलिस ने इन बदमाशों को फोटो फुटेज उत्तराखंड, हरियाणा, मेवात, राजस्थान राज्यों मे सर्कुलेट करवाये गये, जिससे मेवात से एक सूचनाकर्ता ने थाना प्रभारी फिजीकल को सूचना दी कि इस प्रकार की घटना को यहां के कुछ लोग अंजाम देते हैं हो सकता है कि शिवपुरी मे जो घटना घटित हुई है वो इन्ही के द्वारा कारित की गई हो।

सूचना पर तत्काल कार्यवाही करते हुये वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन मे एक पुलिस टीम बनाकर मेवात रवाना किया गया जहां पुलिस टीम द्वारा उक्त आरोपियों की स्थानीय पुलिस की मदद से तलाश की गई तब एक आरोपी को हरियाणा मेवात पुन्हाना से गिरफ्तार किया गया जिससे सख्ती से पूछताछ करने पर उसने बताया कि उसने अपने चार अन्य साथियों के साथ उक्त घटना को अंजाम दिया है, जिसमे एक साथी शिवपुरी जिले के थाना सीहोर मे गाँव कांकर का रहने बाला है।

आरोपी द्धारा दी गई सूचना के आधार पर पुलिस ने कार्यवाही कर ग्राम कांकर से उक्त आरोपी को गिरफ्तार किया। उक्त आरोपियों से घटना में प्रयुक्त बलेनो कार एवं कुल 6 लाख 20 हजार रूपये चोरी के बरामद किये। घटना मे शामिल अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है पुलिस लगातार आरोपियों की गिरफ्तारी व माल बरामदगी में लगी हुई है।

घटना मे इस्तेमाल होने वाली कार शिवपुरी के ऋषभ जैन की

उक्त घटना को अंजाम देने के लिए जिस बलेनो कार का इस्तेमाल किया गया वह शिवपुरी के ही ऋषभ जैन ठेकेदार की बताई जा रही है। सुनील गुर्जर का कोई रिश्तेदार पहले ऋषभ जैन की कार चलाता था उसके कहने पर कार उसे दे दी गई थी जिसकी नंबर प्लेट काली करने के बाद उन्होंने घटना को अंजाम दिया था।

मगरोनी तक पहुंचकर नहीं मिल रही थी कार की लोकेशन इस मामले में जो कार बरामद की गई पुलिस ने उसकी गहन पड़ताल की तो मगरोनी इलाके तक उस कार की लोकेशन मिलती थी उसके बाद अगली लोकेशन ट्रेस नहीं हुई। इसके बाबजूद भी फिजिकल थाना प्रभारी कृपाल सिंह ने हार नहीं मानी और विभिन्न स्थानों से मिले फुटेज के आधार पर एटीएस और दीगर स्थानों की पुलिस से संपर्क बनाकर रखा।

करेरा की जेल तक भी उन्होंने इस मामले में पड़ताल की। यही से सुनील का पता लगा लेकिन अचरज की बात यह है कि इस मामले में पुलिस को मेवात से पहले सफलता मिली। जहां से पुलिस ने चंगेज खान को उठाया जब चंगेज खान से पूछताछ की गई तो उसने खुलासा किया कि शिवपुरी का सुनील गुर्जर भी उनके साथ मौजूद रहा था। उसके बाद ही पुलिस ने सुनील गुर्जर को भी गिरफ्तार किया है। पुलिस ने 2 दिन के रिमांड पर सुनील गुर्जर को जबकि चंगेज खान को न्यायालय में पेश किया है और उसे भी रिमांड पर लेने की बात कर रही है।

जिस एटीएम में कम पर्ची वहां करते थे वारदात

बताया जा रहा है कि शिवपुरी में एटीएम को लूटने से पूर्व इन बदमाशों ने करैरा क एटीएम को लूटने का प्रयास किया लेकिन वहां वह सफल नही हो सके इसके बाद लूटेरे शिवपुरी आए और कमालगंज में स्थित एटीएम को निशाना बनाया। जानकारी मिल रही है कि इन चार बदमाशों से एक बदमाश जो अभी फरार है वह शिवुपरी में कुछ माह पूर्व जेसीबी चलाने आया थां

वहां उसकी पहचान सुनील गुर्जर से हुई। ज्यादा जल्दी रुपए कमाने का प्लान बनाते हुए इन्होने एटीएम लूटने की योजना बनाई थी। चूकि फरार बदमाश मेवात के इन लुटेरों से संपर्क में था उसने ही मेवात चंगेज खान को बुलाया था। चारो ने मिलकर एटीएम को लूटने की योजना बनाते हुए इस लूट कांड को अंजाम दिया था।

पकडे गए बदमाशो ने पुलिस को बताया कि जिन एटीएम मे पर्ची कम मिलती थी उनको ही निशाना बनाया जाता था। बताया यह भी जा रहा हैं कि पकडा गया बदमाश चंगेज लूटे गए पैसों को जुंए में हार गया इस कारण ही पुलिस इतने कम पेसे जब्त कर सकी हैं।