पुश्तैनी जमीन को लेकर विवाद: भाई भतीजो और भाभी ने युवक को पीट-पीटकर मार डाला, पत्नि चिल्लाती रहीे- Shivpuri News

पोहरी। खबर जिले के पोहरी अनुविभाग के नरैयाखेडा गांव से आ रही है कि गांव में रहने वाले एक युवक को अपनी जमीन अपने ही परिवार से मांगना महंगा पड गया। जमीन तो नही मिली मौत मिल गई। बताया जा रहा है कि युवक की हत्या उसके भाई भाभी और भतीजो ने पीट पीटकर कर दी। पति चिल्लाती रही लेकिन किसी ने उसे नही बचाया।

जानकारी के अनुसार पोहरी थाना क्षेत्र के नरैरयाखेडी गांव में निवासरत गोकुल ने अपने परिवार जनो से अपनी पुश्तैनी जमीन से हिस्सा मांगा। हिस्सा मांगने पर विवाद होने लगा। गोकुल के भाई भतीजो और भाभी ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी।मृतक गोकुल की पत्नी कुसुम के अनुसार वह बिलखती रही कि उसके पति को छोड़ दो लेकिन किसी का कलेजा नहीं पसीजा।

आरोपी गोकुल को पीटने के बाद अपने-अपने घर चले गए, और गोकुल मौके पर जिंदगी-मौत के बीच संघर्ष करता रहा। जब किसी ने कोई सुनवाई नहीं कि तो कुसुम ने पड़ोस की एक लड़की से अपने भाई विक्की शर्मा को फोन लगवाया जिसके बाद वह नरैयाखेड़ी आया और पोहरी से एम्बुलेंस बुलवाकर जीजा गोकुल को जिला अस्पताल लाया। लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी सांसें टूट गई।

थाने से लेकर सीएम तक लगाई गुहार

गोकुल पहले बस ड्राइवर था। लेकिन कुछ समय पहले उसे हार्ट अटैक आया तो डॉक्टरों ने उसके यहां स्टंट डाल दिए। इज़के बाद गोकुल ने ड्राइवरी छोड़ दी और गांव जाकर रहने लगा। चूंकि गोकुल अविवाहित था इसलिए उसने एक परित्यगता महिला कुसुम से शादी कर ली। परिवार के जीवनयापन के लिए उसने अपने भाईयों से पुश्तैनी जमीन में से हिस्सा मांगा ताकि वह खेती कर अपना और अपनी पत्नी का भरण पोषण कर सके, लेकिन भाईयों ने उसे उसके हिस्से की जमीन देने से मना कर दिया।

उसने थाने से लेकर एसपी, कलेक्टर और सीएम तक गुहार लगाई लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हुई। इसी क्रम में शनिवार को जब उसने अपने परिवार वालों से बात की तो वे मारपीट करने लगे।

अस्पताल चौकी प्रभारी, अजय खलको ने बताया कि गोकुल को देर रात मृत अवस्था में लाया गया था। उसके साथ उसके परिजन नहीं आए थे। मामला संदिग्ध है, मृतक का पीएम करवा कर मर्ग डायरी संबंधित थाने को जांच के लिए भेज रहे हैं।