2021- शिवपुरी शहर भुलाए नही भूल पाऐगा इस काण्ड को- Shivpuri City News

शिवपुरी। अब 2021 में मात्र दो दिन और शेष है। उसके बाद पूरा विश्व 2022 का स्वागत करने के लिए पूरी तरह तैयार है। इसी बीच 2021 में सबसे ज्यादा चर्चित रहे मामलों में एक मामला शिवपुरी में सिद्धि विनायक अस्पताल में भ्रूण हत्या का वीडियों बायरल होने का रहा है। इस मामले में पुलिस ने सिद्धिविनायक हॉस्पीटल के आरएमओ डॉ रईस खान और वीडियों में डील करने बाली उनकी पत्नि पूनम खान के खिलाफ मामला दर्ज कर विवेचना में लिया था।

इस मामले को लेकर सहरिया क्रांति ने भी एक विशाल रैली निकालकर इस मामले को हबा दी थी। जिसके बाद आनन फानन में प्रशासन ने इस अस्पताल की सेवाओं को तत्काल प्रभाव से रोकने का आदेश जारी किया था। इस आदेश के जारी होते ही इस मामले में डॉ दपत्ति पर एफआईआर दर्ज की गई। उसके बाद इस वीडियों को बनाने बाले  कथित पत्रकारों पर भी अस्पताल प्रबंधन ने ब्लैकमैलिंग का आरोप लगाते हुए आवेदन दिया था।

इस मामले में पुलिस ने अस्पताल प्रबंधन के आवेदन पर इस मामले में आरोपी कथित पत्रकार दंपत्ति सौरभ गांवा और साक्षी सक्सैना निवासी नौएडा को गिरफ्तार किया। इसके बयानों के बाद सामने आया कि इस मामले में शहर के एक पत्रकार ध्रुब शर्मा, पूजा त्यागी और मोहित भाटी को भी आरोपी बनाया और इन्हें भी गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था।

पुलिस ने इसी मामले में आरोपी दंपत्ति पर धारा 389 बढाई गई है। जिसके चलते इन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। उसके बाद इस मामले में डॉ रईश खान और उनकी पत्नि पूनम खान फरार हो गई थी। जिसके चलते पुलिस अधीक्षक ने उन पर 2 2 हजार रूपए का इनाम घोषित किया था। उसके बाद इस दंपत्ति ने दिल्ली हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका लगाई। जिसे माननीय न्यायालय ने खारिज करते हुए इन्हें 7 दिन में शिवपुरी कोर्ट में उपस्थित होने का आदेश दिया। जिसके चलते साल के अंत में इस दंपत्ति ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया। इस मामले में सभी आरोपी अभी जेल में ही है।