सट्टे के रट्टे में फस गया था अंकित इसलिए लटक गया फांसी पर: SONY महिला के जाल में फसा था

शिवपुरी। शहर के नीलगर चौराहे के पास रहने वाले 20 वर्षीय अंकित परिहार सटटे के रटटे मे फस गया था। इसलिए उसने मौत को गले लगा लिया। अंकित फांसी पर लटकने से पूर्व अपने बड़े भाई के फोन पर एक मैसेज किया था। मैसेज में लिखा है कि 'भैया मैं आप सब से माफी चाहता हूं और आज मैं अपने आप को खत्म करने जा रहा हूं।

इसमें आपकी कोई गलती नहीं है, जो कुछ भी है सारा मेरा कसूर है। मम्मी-पापा का ख्याल रखना और उनका अच्छे से ध्यान रखना। मैं अब इस दुनिया से जा रहा हूं। तुम मुझे रेलवे स्टेशन पर ढूंढ लेना।

अंकित के मोबाईल ने उगले उसकी मौत के राज
जानकारी के अनुसार, मृतक अंकित परिहार के मोबाइल में सटोरिए की रिकॉर्डिंग भी मिली है। जिसमें वो अंकित को पैसों की वसूली के लिए धमका रहा है। मोबाइल पर आखिरी कॉल उसी सटोरिए का था। सूत्रो का कहना है कि अंकित एक सोनी महिला के जाल में फस गया था उक्त महिला सटटे के कारोबार से जुडी हैं।

30 हजार की सिल्क भी गायब
अंकित ऑनलाइन मार्केट में डिलीवरी बॉय का काम करता था। बताया जा रहा है कि कल उसने 30 हजार रुपए के सामान की सप्लाई की थी। यह राशि भी उसके पास नहीं है। ऐसे में अंदेशा लगाया जा रहा है कि ये रुपए सटोरिए ने छीन लिए होंगे। इसी के चलते शायद उसने आत्महत्या कर ली।

सटोरिए के चंगुल में नई उम्र के कई युवा
गणेश गली में जब आत्महत्या के कारणों की पड़ताल करने अंकित के आसपास रहने वाले कई युवाओं से बात की गई तो उन्होंने नाम उजागर न करने की शर्त पर बताया कि अंकित सटोरिया के चंगुल में फंस गया था। सिर्फ वही नहीं उस जैसे कम उम्र के कई युवा सटोरिए के चंगुल में फंसे हुए हैं। वह युवाओं को सट्टे की लत डालने के लिए उन्हें छह दिन तक सट्टा खिलवाते है और सातवें दिन उनसे पैसा मांगते है। जब कोई पैसा नहीं दे पाता तो उसे शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित करते है और यही अंकित के साथ भी हुआ।

ऑटो में सवार होकर पहुंचा था रेलवे स्टेशन
पुलिस ने जब मामले की पड़ताल के लिए सीसीटीवी खंगाले तो अंकित रेलवे स्टेशन पर एक ऑटो से उतरता हुआ दिखाई दिया। उसके बाद अंकित पैदल-पैदल रेलवे स्टेशन के अंदर गोदाम की तरफ जाता दिखाई दिया। अंकित की लाश रेलवे स्टेशन के पास स्थित  बबूल के पेड से लटकी मिली।