अतिथि‎ शिक्षकों का धरना‎: 12 माह का वेतन और 62 साल की‎ पात्रता दो, नहीं तो करेंगे आंदोलन‎ - Shivpuri News

शिवपुरी। 12 माह का वेतन देने के साथ-साथ ‎अतिथि शिक्षकों की सेवानिवृत्ति आयु‎ 62 वर्ष करो। ताकि लंबे अरसे तक‎ अन्य कर्मचारियों की भांति वह भी‎ काम कर सके। यदि सरकार ने अतिथि‎ शिक्षकों के हित में फैसले नहीं लिए तो‎ फिर अतिथि शिक्षकों को प्रदर्शन करने‎ मजबूर होना पड़ेगा। यह चेतावनी‎ अतिथि शिक्षक संघ के पदाधिकारियों‎ ने कलेक्ट्रेट के पास स्थित रोटरी चौक‎ पर धरना प्रदर्शन के दौरान उग्र रवैया‎ अख्तियार कर कही।‎

सोमवार को शहर के रोटरी चौक‎ के पास धरना प्रदर्शन करते हुए‎ अतिथि शिक्षकों ने कहा कि जिस‎ तरह से गुरुजी की भर्ती अलग से‎ परीक्षा आयोजित कर की गई। अतिथि‎ शिक्षकों की भी इसी तरह विशेष‎ परीक्षा आयोजित की जाए ताकि वह‎ भी अनुभव का लाभ लेकर नियमित‎ शिक्षक बन सके। जो शिक्षक नई भर्ती‎

नीति के तहत अभी नियुक्त हो गए हैं‎ और वहां पहले से अतिथि शिक्षक‎ कार्यरत थे। ऐसे अतिथि शिक्षकों की‎ भलाई के लिए वहां फिर से पद रिक्त‎ किए जाएं, ताकि अतिथियों को भी‎ रोजगार मिल सके।अक्सर पोर्टल पर‎ आवेदन करते समय अतिथियों को‎ बड़ी परेशानी होती है, इसलिए सरकार‎ पोर्टल प्रक्रिया में सुधार करे।

जिस‎ तरह से उत्तराखंड, हिमाचल, दिल्ली‎ और हरियाणा में अतिथियों की वेतन‎ वृद्धि की गई और उनकी उम्र 62 वर्ष‎ की गई है। ठीक उसी तरह से मध्य‎ प्रदेश राज्य में भी इसे लागू किया‎ जाए ताकि यहां के अतिथि शिक्षकों‎ को भी इसका लाभ मिल सके। यह‎ मांग अतिथि शिक्षकों ने सोमवार‎ को कलेक्ट्रेट के पास प्रदर्शन करने‎ के दौरान कही। साथ ही चेतावनी‎ भी दी कि यदि हमारी मांगे नहीं‎ मानी गई तो फिर हम उग्र प्रदर्शन‎ करने मजबूर होंगे। इस अवसर पर‎ 1 सैकड़ा से अधिक अतिथि‎ शिक्षक प्रदर्शन में मौजूद रहे।