कचरे के ढेर पर शिवपुरी शहर: नहीं होती है शहर में सफाई, जगह-जगह लगे गदंगी के ढेर, बेशर्म विभाग को शर्म नहीं- Shivpuri News

शिवपुरी। भ्रष्टाचार का ब्रांड विभाग जिसे अब बेशर्म विभाग भी कहा जाता हैं,हां अपने सही समझा हम नगर पालिका शिवपुरी की ही बात कर रहे है। इस विभाग का काम हैं शहर को स्वच्छ रखना लेकिन शहर के कुछ हिस्सो को देखा जाए तो ऐसा लगता हैं कि शहर कचरे के ढेर पर बैठा है।

नगर पालिका की जिम्मेदारी होती हैं वह शहर को स्वच्छ रखे,इसके लिए उसके पास एक अलग से बिंग हैं,उसमें सफाईकर्मी हैं,लेकिन फिर भी शहर में गंदगी है। नपा शिवपुरी में 39 वार्ड हैं और सफाई कर्मचारियो की वार्ड के हिसाब से ड्यूटी लगी हैं,वार्ड में भी मोहल्लो के हिसाब से सफाई कर्मियो को तैनात किया गया हैं। फिर भी आपको शहर में कही भी गंदगी के ढेर लगे मिल जाऐगा ओर इसकी ग्वाही शहर में लगे गंदगी के ढेर स्वयं ही दे रहे हैं।

शहर के प्रमुख मार्गों से लेकर हर कॉलोनी में गंदगी के ढेर दिखाई दे रहे है। इतना ही कॉलोनी में रहने वाले लोगो का कहना है की सप्ताह में एक दो बार ही सफाईकर्मी आते है, वह भी कुछ पहले से तय जगह पर सफाई करके निकल जाते है। जब कूड़े का ढेर अधिक हो जाता है तो इस पर आवारा मवेशी सहित सूघर टहलते रहते है। फिर यही गंदगी सड़क तक पहुंचा जाती हैं। इससे एक तो सड़क पर भी गंदगी फैलती है।

साथ ही वहाँ से निकलते समय बदबू भी आया करती है। लोगो का कहना है इसकी शिकायत नगर पालिका के प्रशासनिक अधिकारियों से कई बार कर चुके है।लेकिन शिकायत के बाद भी कोई कर्मचारी आज तक सफाई के लिए नही आते, जो कुछ आते भी हैं तो वहाँ थोड़ी बहुत साफई करके फिर अपने पुराने ढर्रे पर लौट जाते है। इससे शहर में गंदगी के अंबार लगे हुए है।

खराब है शहर हालात

शहर की कृष्णपुरम कॉलोनी, विजयपुरम कॉलोनी,नबाब साहब रोड, आदर्श नगर, लुहारपुरा,फतेहपुर रोड, महाल कॉलोनी, तुलसी नगर सहित कई जगह पर कूड़े के ढेर देखे जा रहे है। जिसकी वजह वहाँ मौजूद गंदगी में आवारा मवेशी सहित सूघरो का भी जमावड़ा देखने को मिलता हैं साथ ही गंदगी के कारण इतने सूघर होने से रोडो पर कई बार एक्सीडेंट जैसी घटनाए भी घटित होती हैं जिससे वहाँ निवास करने वाले लोगो मे काफी रोष दिखाई देता है। मार्ग से गुजरने वाले राहगीर गंदगी से परेशान हैं। स्थनीय निवासियों का कहना है गंदगी की अगर रोजाना सफाई हो जाए तो दिक्कत न आए। लेकिन कर्मचारी न आने से हालात बहुत ही खराब हो जाते हैं।

नहीं आते है सफाई कर्मचारी और कचरा गाड़ी

यहां पर डस्टबिन न होने से कॉलोनी वासी रोजाना कूड़ा डालते है। जब अधिक मात्रा में कूड़ा हो जाता है, तब इसको साफ किया जाता है। इससे यहां से उठने वाली बदबू शहरवासियों को परेशान करती है। कॉलोनी निवासियो का कहना है सफाई कर्मी भी कम आते हैं। आते है तो सही सफाई नही करते हैं। शहर में प्रतिदिन कचरा लेने वाली गाडी भी नियमित नही आती है।

बाजार ने की दिन में कचरा गाडी आने की मांग

शिवपुरी की कॉलोनियो और मुख्य मार्गो पर सुबह कचरा गाडी आती हैं,कॉलोनियो में सुबह गाडी का आना सही हैं,लेकिन शहर के मुख्य मार्ग और बाजार वाली रोडो पर सुबह के साथ साथ दिन में भी कचरा गाडी आनी चाहिए।

क्यो कि बाजार लगभग 10 बजे खुलता हैं,दुकानदारी की सफाई 10 बजे होती हैं अब वह कचरा फिर सडको पर जाता हैं तो दिन भर सडको पर ही पडा रहता हैं। अगर नपा की कचरा गाडी 10 बजे पुन:मुख्य मार्ग या मार्केट में आए तो दुकानदार अपना कचरा उसमें डाल देंगें जिससे शहर के मुख्य मार्गो पर कचरे के छोटे छोटे ढेर नही दिखेगें।