स्वास्थ्य के सारे काम छोड़ अपनी मांगों को लेकर आशा कार्यकर्ताओ ने किया कलेक्ट्रेट का घेराव - Shivpuri News

शिवपुरी। स्वास्थय विभाग की जमीनी ताकत आशा और सहयोगी कार्यकर्ताओ ने अपनी मांगो को लेकर हडताल कर कलेक्ट्रेट का घेराव किया। आज के इस कलेक्ट्रेट के घेराव प्रर्दशन का समर्थन करने राष्ट्रीय अध्यक्ष आशा उषा सहयोगी एंव राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आपकी आवाज की श्रीमती पूजा पटेल ने शिरकत की।

मीडिया से बातचीत करते हुए पूजा पटेल ने कहा कि हम सभी आशा उषा सहयोगी कार्यकर्ता वर्ष 2004 से अल्प प्रोत्साइन राशि के आधार पर कार्य कर रही हैं। हमे शासन सतर से किसी भी प्रकार का कोई भी निश्चित मानदेय की राशि प्राप्त नही हुई हैं,अगर होेती भी है तो उसमें से भी कटौती कर ली जाती है।

जो भी हमारा मानदेय हैं उसे समय पर नही दिया जाता। इस भीषण महगाई में हमारा गुजारा होना मुश्लिकल होता है। इस कोविड 19 के संक्रमण काल में हम पिछले 2 साल से बिना किसी भी सुरक्षा समाग्री के अपनी जान जोखिम में डालकर अपनी सेवाए दे रहे हैं।

हम आश उषा कार्यकर्ता ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में शासन की समस्त योजनाओ को क्रियान्वयन करने एंव कोविड 19 के टीकाकरण किल कोरोना योजनाओ में सफलता से कार्य कर रहे हैं। ग्रामीण स्तर पर टीकाकारण और किल कोरोना सर्वे अभियान में हमारे उपर जानलेवा हमले हुए है। ऐसी स्थिती में हम अपने सेवा भाव से पीछे नही हैं,जानलेवा हमलो में स्वास्थय विभाग के एनआरएचएम से कोई सहायता नही मिलती हैं और पुलिस की सुरक्षा हमे प्राप्त नही होती। ऐसी परिस्थती में भी हम अपनी ड्यूटी कर रहे हैं।

हम अपनी मांगो को लेकर माननीय महोदय से निवदेन कर रहे हैं कि हमारी मांगे पूर्ण करने की कृपा करे।

यह हैं,प्रमुख मांगे
आशा कार्यर्मा एंव आशा सहयोगी को नियमित कर स्वस्थय विभाग का कर्मचारी मान्य किया जाए। आशा को टूकडो में प्रोत्साहन राशि के स्थान 15000 निशचित मानदेय दिया जाए। आशा और आशा सहयोगी को नियमित कर स्वास्थय विभाग के एएनएम,एकाउंटेंड,वीसीएम एंव अन्य पदो पर योगिता अनुसार सीधी भर्ती वर्येता दी जाये।

माननीय महोदय आशा उषा एंव सहयोगियो के कार्यरत रहने से ग्रामीण एंव शहरी क्षेत्र में स्वास्थय सेवाये सुद्रण हुई हैं। मातृ एंव शिशु मृत्यु की दर में भारी कमी आई र्हैं। जनसंख्या के नियत्रंण में भी काययामी मिली हैं फिर भी शासन प्रशासन हम आशा उषा सहयोगियो के तरफ ध्यान नही दे रहे हैं।

सरकार का यह सौतेला व्यवहार एंव अनदेखी का आपकी संगठन पूरे मध्यप्रदेश में 3 दिवसयी कमलवंद हडताल कर कडा विरोध करता हैं यदि तत्काल प्रभाव में आशाओ की मांग पूर्ण नही की जाती तो आपकी आवाज संगठन संपूर्ण मप्र मे हडताल कर उग्र आंदोलन करेगा। इस बीच में स्वास्थय सेवा कोविड 19 टीकाकरण मातृ एंव शिशु मृत्यु की जबाबदारी सरकार की होगी।