विधायक रघुवंशी के प्रस्ताव पर लागू होगी योजना: कमाऊ पति की मौत के बाद आश्रित पत्नी को मिलेगी पेंशन - Shivpuri News

शिवपुरी। कोरोना काल में मप्र शासन ने कोविड बाल सेवा योजना शुरू की थी,इस योजना में ऐसे बच्चो को मप्र शासन जिनके माता—पिता कोरोना संक्रमण के कारण मौत हुई हो,लेकिन अब कोलारस विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी के प्रस्ताव पर इस योजना को स्वरूप को बदला गया। अब इसमें ऐसी महिला भी शामिल की गई हैं जिनके कमाऊ पति की मौत कोरोना के संक्रमण के कारण हुई हो। इसका लाभ उन परिवारो को मिल सकेगा जिनके घर में पिता की मौत के बाद कोई और कमाने वाला सदस्य नहीं है।

दरअसल मुख्यमंत्री कोविड बाल सेवा योजना के अंतर्गत अब तक कोरोना

संक्रमण के कारण माता-पिता की मृत्यु हो जाने पर आश्रित बाल हितग्राही को 5000 प्रतिमाह की सहायता मिलने का प्रावधान है। इसके साथ उन्हें फ्री खाद्यान्न की मदद और सरकारी स्कूल में मुफ्त शिक्षा देने भी शामिल हैं। लेकिन कोरोना काल में ऐसे परिवारों पर भी संकट आया, जिसमें घर के कमाऊ पिता की मृत्यु हो जाने के बाद अकेली घरेलू महिला और उस पर आश्रित बच्चों के रह जाने से परिवार टूटने के कगार पर पहुंच गया। ऐसे मामले संज्ञान में आने पर इसे सीएम शिवराज सिंह चौहान ने गंभीरता से लिया।

कोलारस विधायक वीरेंद्र रघुवंशी की मानें तो भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी बैठक के दौरान जब सीएम ने अपना उद्बोधन दिया तो उन्होंने मुख्यमंत्री कोविड-19 बाल योजना का जिक्र कर कहा कि कुछ ऐसे लोग भी हैं जिनके परिवार घर के कमाऊ सदस्य के जाने के बाद टूट गए हैं। ऐसे परिवार की घरेलू महिला पर आश्रित को हम इस योजना में शामिल करेंगे।

विधायक वीरेंद्र रघुवंशी ने बताया कि सीएम की इस घोषणा के बाद मौजूदा लोगों ने योजना को सराहा क्योंकि अधिकांश विधायक और नेता चाहते थे कि घर के कमाऊ सदस्य के चले जाने के बाद घरेलू महिला और उस पर आश्रित बच्चों को इस योजना में शामिल किया जाए।