साल भर मेंटेनेंस: फिर भी घंटों की अघोषित बिजली कटौती, विपक्ष में कांग्रेस को गर्मी का अहसास नही - Shivpuri News

शिवपुरी। बिजली विभाग का प्रतिदन अखवारो के दफ्तरो में प्रेस नोट आता है कि इस जगह बिजली मेनिटेंस के कारण बिजली सप्लाई बंद रहेगी। ऐसे घोषित शहर के कई क्षेत्रो मे लगभग 4 घंटे बिजली कटौती की जाती हैं,लेकिन उसके बाद भी फाल्ट के नाम पर अघोषित बिजली काटने का क्रम जारी हैं।

बडा सवाल बनता है कि साल के प्रतिदिन क्या मेनिटेंस होता है,क्या मेनिटेंस के नाम पर घोषित 4 घंटे बिजली कटौती होती है। यह तक तो सब ठीक है उसके बाद भी शहर के कई क्षेत्रो में अघोषित कटौती की जाती है। इस समय भंयकर गर्मी पड़ रही है। दिन में कई-कई घंटे बिजली गायब रहती है और रात में भी कटौती से मुक्ति नहीं मिलती है। रात में तो कई वार्डो, कॉलोनियों और मोहल्लों में तीन-तीन चार-चार घंटे की कटौती होती है।

जिससे लोग सो भी नहीं पाते। कई कॉलोनियों में आधी रात के लगभग बिजली काट दी जाती है। जबकि लोग सो रहे होते हैं। नागरिकों में बिजली की कटौती से आक्रोश बना हुआ है। बिजली कटौती से जल सप्लाई भी प्रभावित हो रही है।

शिवपुरी में प्रतिदिन मेंटीनेंस के नाम पर कई क्षेत्रों में 6-6, 7-7 घंटे की बिजली कटौती की जा रही है। बिजली कटौती सुबह से ही प्रारंभ हो जाती है और कभी-कभी तो 4 बजे के बाद ही लाईट आती है। जबकि गर्मी का सिलसिला सुबह 8 बजे से प्रारंभ हो जाता है और गर्मी के कारण लोगों का घर में रहना भी मुहाल हो जाता है। गर्मी का कष्ट महिलाओं को भी भोगना पड़ रहा है।

गर्मी के कारण किचिन के पंखे नहीं चल पाते हैं और महिलाओं के लिए खाना बनाना मुश्किल हो रहा है। दिन के अलावा पिछले कई दिनों से रात में भी मैराथन कटौती की जा रही है। पहले तो आंधी तूफान वर्षा के कारण बिजली काट दी जाती थी। लेकिन अब तो न आंधी है न तूफान है, न वर्षा है।

इसके बाद भी रात में घंटों तक बिजली गायब रहती है और जब आती भी है तो वॉल्टेज इतना कम होता है कि उसमें एसी की बात तो छोडि़ए कूलर भी नहीं चल पाते हैं और पंखे भी काफी धीमी रफ्तार से चलते हैं। इस पूरे मामले में एक बात सामने आई हैं कि बिजली के मामले में विपक्ष में बैठी कांग्रेस ने आज तक भी प्रेस नोट भेजकर भी इस कटोती का विरोध नही किया हैं,आंदोलन की बात तो दूर हैं....जब तो लोग कहने लगे हैं कि शायद कांग्रेस को विपक्ष में बैठकर गर्मी का अहसास नही होता है।