अंधविश्वास बन रहा है वैक्सीनेशन में बाधक,ग्रामीण क्षेत्रों में रफ्तार धीमी, लोग बोले वैक्सीन लगवाई तो पूरा परिवार हो जाएगा बीमार - Shivpuri News

शिवपुरी। जिले के करैरा के आदर्श ग्राम सिरसौद में लगे वैक्सीनेशन कैम्प में कम संख्या में टीका लगवाने लोग पहुंचे। जब व्यापारियों को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करने के लिए सरकारी अमला पहुंचा तो एक कपड़ा व्यापारी ने रूचि न दिखाते हुए कहा कि वैक्सीन लगवाने से हमारे देवी-देवता ने मना कर दिया है।

यदि हमने वैक्सीन लगवाई तो पूरा परिवार बीमार हो जाएगा। वहीं आदेश का उल्लंघन करने पर देवता हमारा बुरा हाल कर देंगे। हालांकि डॉ. संत कुमार ने उन्हें समझाने का प्रयास किया। लेेकिन व्यापारी वैक्सीन लगवाने के लिए राजी नहीं हुआ।

वैक्सीन न लगवाने के लिए ग्राम सिरसौद और आस पास के आदिवासी बाहुल्य गांवों के ग्रामीण तरह-तरह के बहाने बना रहे हैं और वैक्सीनेशन से बचने का प्रयास कर रहे हैं। कोई बीमारी तो कोई अपने देवी-देवताओं के अलावा वैक्सीन से ज्यादा गर्मी होने की बात कहकर वैक्सीन लगवाने मना कर रहे हैं।

स्वास्थ्य कर्मी इस बात को लेकर चिंतित हैं कि गावों में वैक्सीन लगाने का लक्ष्य कैसे पूरा होगा। बार-बार समझाने के बाद भी ग्रामीण वैक्सीन लगवाने को तैयार नहीं हो रहे हैं। आदर्श ग्राम सिरसोद में वैक्सीनेशन शिविर का आयोजन शुक्रवार को किया गया था।

इसमें 100 युवाओं को वैक्सीन से लगाने का लक्ष्य था, लेकिन लोगों में वैक्सीन लगवाने से उपजे भय के कारण प्रेरित करने के बाद भी देर शाम तक मात्र 70 लोग ही टीका लगवाने पहुंचे। इतना ही नहीं प्रशासन की टीम दुकानों पर पहुंची तो टीम को देख दुकानदारों ने तिजौरी, पेंट, शार्ट की जेब से मास्क निकालकर लगाते हुए नजर आए।

इनका कहना है-
वैक्सीन के लिए प्रेरित करने पहुंचे तो एक दुकानदार ने देवी देवताओं का हवाला देकर मना कर दिया तो कई अन्य लोगों ने बहाना बनाकर मना कर दिया। गांवों में दो से 5 प्रतिशत लोग इस तरह के बहाने बना रहे हैं।
डॉ संत कुमार शर्मा, आदर्श ग्राम सिरसौद