अपनी व्यक्तिगत लड़ाई पर हड़ताल कराने वाले डॉ.अखिलेश शर्मा पर FIR: कोरोना का इलाज तक रोक दिया था - Shivpuri News

करैरा। करैरा अस्पताल में पदस्थ डॉक्टर अखिलेश शर्मा पर आज करैरा थाने में मामला दर्ज किया गया हैं। डॉक्टर अखिलेश शर्मा ने अपनी निजी लडाई को पर्सनल बनाते हुए करैरा के सारे स्वास्थय अमले को अपने साथ कर हडताल कर कोरोना जैसे इमरजैंसी में स्वास्थय सेवाए रोक दी थी,इससे वैक्सीनेशन केंप तक प्रभावित हो गए थे।

डॉक्टर अखिलेश शर्मा ने बताया था कि उनकी कार में एक अज्ञात बाईक सवार ने टक्कर मार दी और उनके साथ मारपीट कर दी,करैरा थाने पहुंचकर अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर करा दिया। इस मामले मे नया मोड जब आया जब अखिल भारतीय पाल समाज ने डॉक्टर की कहानी हो झूठा बताते हुए कहा था कि डॉक्टर ने उल्टा बाइक चालक का पीटा हैं और डॉक्टर का धर्म न निभाते हुए घायलो पर लात घूसे मारे हैं और घायल अवस्था में उन्है वही छोड आए। महासभा ने डॉक्टर पर कार्रवाई करने की मांग की थी। मांग पूरी न होने पर धरने की चेतावनी तक दे डाली थी।

आज इस मामले में बाईक चालक अंकित पाल की रिर्पोट पर करैरा थाने में डॉक्टर अखिलेश यादव के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। जानकारी के अनुसार फरियादी अंकित पाल पुत्र चंद्रभान पाल उम्र 20 साल निवासीनया थाने के पीछे दिनारा ने थाना आकर रिर्पोट दर्ज कराई कि 1 जून को में अपनी मोटर साईकिल से अपने पिता एंव बहन के साथ दिनारा से बगीचा मंदिर करैरा दर्शन करने जा रहा था। मोटर साईकिल मेरे पिता चंद्रभान सिंह चला रहे थे।

सुबह 9 बजे जैसे ही हम पुलिस लाईन के चौराहे पर पहुंचे तो करैरा नगर की आरे एक आल्टो कार एमपी 33 सी 9461 का चालक ने लापरवाही से चलाते हुए हमारी मोटर साईकिल में पीछे से टक्कर मार दी। कार के द्घवारा पीछे से टक्कर मारते ही मोटर साईकिल सहित हम तीनो नीचे गिर गए। इस हादसे में मेरी बहन मेरे पिता और मैं तीनो घायल हो गए शरीर के कई हिस्सो में चोटे आई।

इसके बाद कार से डॉ अखिलेश शर्मा निकले और हमारे साथ मारपीट कर दी मौके पर अभिनय तिवारी और भगवान सिंह पाल ने बीच बचाव किया। इसके बाद सभी घायलो ने शिवपुरी अस्पताल में भर्ती होकर ईलाज करवाया। करैरा थााना पुलिस ने अंकित पाल की रिर्पोट पर करैरा अस्पताल में पदस्थ डॉक्टर अखिलेश शर्मा के खिलाफ भादिव की धारा 279,337,323 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।