राष्ट्रीय पक्षी मोर की मौत के बाद गुपचुप तरीके से रक्षक कर रहे थे दाह संस्कार, मीडिया के पहुंचते ही अधजले शव को छोड़कर भागे - Shivpuri News

मोहम्मद फरहान काजी@ रन्नौद । जिले के वन परिक्षेत्र बदरवास के अंतर्गत आने वाली चौकी रन्नौद के आह्मारा बीट वन क्षेत्र में वन प्राणी की बिजली के खम्बे में अचानक करंट की लहर दौड़ी इस कारण से उक्त राष्ट्रीय पक्षी मोर की मौत हो गई , ग्रामीणो ने तत्काल मामले की जानकारी वनविभाग को दी।

वन विभाग ने इस मामले को गंभीरता से लिया, लेकिन गंभीरता मौके पर ही पहुंचने तक ही सीमित रही।जिसके उपरांत उक्त मोर को वन रक्षक ब्रजेश तिवारी व वन रक्षक सतेंद्र लगोरिया जिनकी बीट है उन्होंने उक्त मोर को अपने कब्जे में लेकर पीएम कर दाह संस्कार के बहाने ले गए ,।

अपने वन महकमे के अधिकारीयों को अवगत करा कर गुप चुप तरीके से दाह संस्कार कर दिया वह भी बिना डिप्टी रेंजर की मौजदगी में यह सब नियम विरुद्ध कार्य को अंजाम दिया गया ,न ही मृत मोर को सही ढंग से दाह संस्कार हुआ आधी जली हालत में छोड़ भागे।

जब ग्रामीणों ने मीडिया को इस मामले की जानकारी दी। तब कह जा कर मीडिया ने पूरे मामले की पड़ताल की तो हकीकत में यह देखने को मिला कि मोर को गुप चुप तरीके से दाह संस्कार किया गया,ओर पाया कि बाकई में आधी जली मृत अवस्ता में मोर के कुछ हिस्से मिले जो कि काफी कुछ बया कर रहे है।

मीडिया में मामला आने पर अधिकारीयों के हाथ पैर फूलने लगे। तत्काल वन विभाग की टीम फिर उसी स्थान पर पहुंची और सबूत मिटाने में जुट गई। हांलाकि मौके पर मांस व हड्डीयों न मिलने पर।अधिकारीयों के हाथ पैर फूल गए है। इस कारण ही इस पूरे में मामले में विभाग पर्देदारी कर रहा है।

अब देखना यह होगा बिना डिप्टी रेंजर की मौजदगी में गुप चुप तरीके से दाह संस्कार किया आधी जली मोर को कुत्ते बिल्ली के लिए मुँह का निबला बना कर छोड़ दिया कुछ खास कार्यवाई हो पाती है देखना बड़ा ही दिलचस्व होगा।

20 दिन पहले भी ऐसा मामला आया था जिसे डायल 100 इंदार पुलिस ने वन विभाग के गार्ड को सोप दिया था मृत मोर जिसे भी गुप चुप तरीके से किया दाह संस्कार।


इनका कहना है
हमने ग्रामीणों की सूचना पर मृत मोर को तारो पर से उतार लिया जिसके बाद बरिष्ट अधिकारी के निर्देश में दाह संस्कार कर दिया है पीएम हुआ या नही हमे जितना आदेश मिला उसका पालन किया,बाकी आप साहब लोगो से बात कर लीजिए।
ब्रजेश तिवारी वन रक्षक बेदमऊ बीट प्रभारी

हमे ग्रामीणों की सूचना मिली थी कि बिजली के तार पर बैठी मोर करंट से मर गई है जिसको वन रक्षक ब्रजेश तिवारी जी के साथ जाकर उक्त मोर को जला दिया है जो हड्डी थी वह दफन कर दी,रही बात पीएम की तो हमे नही मालूम पीएम हुआ या नही हमने दोनों ने साथ मिल कर दाह संस्कार कर दिया डिप्टी साहब ने बोला था आप लोग जला दो हम नही आ सकते है कोई दिक्कत आएगी हम निपट लेंगे।
सतेंद्र लगोरिया,मोहराई बीट प्रभारी

आपके द्वारा मामला मेरे संज्ञान में लाया है राष्ट्रीय पक्षी मोर को अध जला छोड़ भागे है गार्ड ओर डिप्टी रेंजर यह बहुत गलत बात है राष्ट्रीय पक्षी की आधी जली बॉडी के मामले में कड़ी निंदा करता हु जल्द जांच करा कर दोषियों के खिलाफ कार्यवाई की जावेगी।
एम के सिंह,एसडीओ, शिवपुरी