राजे ने किया कोविड-19 स्थिति की समीक्षा: जिले में कोरोना को काबू करने के यह दिए निर्देश - Shivpuri News

शिवपुरी। कैबिनेट मंत्री एवं जिले की कोविड प्रभारी मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया द्वारा लगातार जिले में कोविड-19 स्थिति की समीक्षा की जा रही है। लगातार प्रयासों से पॉजिटिविटी दर में कमी देखी गई है लेकिन अभी भी पूरी लगन से एकजुट होकर सभी को कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए प्रयास करना होगा।

मंत्री श्रीमती सिंधिया ने निर्देश दिए हैं कि जिले में कोरोना कर्फ्यू का सख्ती से पालन कराया जाए। यदि लोगों का आवागमन जारी रहेगा तो यह संक्रमण का कारण बनेगा, इसलिए आवागमन को रोका जाए। उन्होंने बैठक में कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक सहित सभी अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कोरोना कर्फ्यू का सख्ती से पालन होना चाहिए।

बैठक में पोहरी विधायक एवं राज्यमंत्री श्री सुरेश धाकड़ राठखेड़ा, कोलारस विधायक वीरेंद्र रघुवंशी, करैरा विधायक श्री प्रागीलाल जाटव भी शामिल हुए। मंत्री श्रीमती सिंधिया ने सभी विधायकों से भी सुझाव मांगे और कहा है कि सभी जनप्रतिनिधि और प्रशासन, पुलिस की टीम मिलकर काम करें। स्थानीय स्तर पर जनप्रतिनिधियों एवं क्राइसिस मैनेजमेंट समूह के माध्यम से निगरानी की जाए और लोगों को जागरूक किया जाए।

चिकिसकों के साथ बैठक कर गाइडलाइन बताएं

कई मामलों में मरीज पहले चिकित्सक से इलाज करा रहे हैं और समय पर कोरोना टेस्ट नहीं करा रहे हैं जिसके कारण उन्हें समस्या बढ़ जाती है। इस पर चर्चा करते हुए मंत्री श्रीमती सिंधिया ने निर्देश दिए हैं कि सभी विकासखंडों में संचालित हो रहे क्लिनिको के डॉक्टरों के साथ भी बैठक की जाए और उन्हें कोरोना गाइडलाइन की जानकारी दें।

उन्हें समझाइश दें कि आने वाले मरीज का पहले कोरोना टेस्ट कराएं। टाइफाइड एवं अन्य बीमारियों में मरीज को भ्रमित ना करें क्योंकि समय पर कोरोना का इलाज होगा तो मरीज जल्दी स्वस्थ होगा और अन्य लोगों को भी संक्रमण से बचाया जा सकेगा।

जनअभियान परिषद के वालंटियर सक्रिय भूमिका निभाएं

मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने जन अभियान परिषद के वालंटियर को सक्रिय रूप से काम करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि विकासखंडों में जनअभियान परिषद के वालंटियर हैं। वह लोगों को समझाएं और जिन घरों में लोग बीमार हैं वह कोरोना की जांच कराएं और दवा वितरण में भी सहयोग करें।

शादी समारोह पर लगाएं प्रतिबंध

कोरोना संक्रमण को देखते हुए अभी शादी समारोह पर प्रतिबंध लगाया गया है। मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा है कि शादी समारोह नहीं होना चाहिए। सूचना तंत्र को मजबूत करें। स्थानीय स्तर पर लोगों से चर्चा कर जानकारी प्राप्त करें।