जायदाद के लालच में गोद लिए बेटे ने की हत्या ओर पहचानने से कर दिया इंकारःटेलर ने सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थी - Shivpuri News

शिवपुरी। मृतक के कपडे सिलने वाले टेलर के कारण एक अंधे कत्ल का न केवल पर्दाफाश हुआ बल्कि 3 हत्यारे भी गिरफ्तार करने में सुरवाया पुलिस को सफलता मिली हैं। इस मामले में परिजनो ने ही संपत्ति के लालच में हत्या की है,मृतक का शव पहचानने से परिजनो ने इंकार कर दिया था।

जैसा कि विदित हैं कि बीते 13 जनवरी को थाना सुरवाया क्षेत्र के अंतर्गत आनी वाली अमोला खाटी की पुलिया के नीचे एक अज्ञात व्यक्ति का शव मिला था। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच में ले लिया गया।

मृतक के शरीर पर चोटो के निशान थे। पुलिस ने अज्ञात हत्यारो के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया ओर लाश की पहचान करने के प्रयास तेज कर दिए।

वही पुलिस को सूचना मिली की भौती थाना क्षेत्र के ग्राम बामौर डामरौन में निवास करने वाले श्रीपत पुत्र नारायण जू पाल उम्र 68 साल अपने घर से गायब हैं,पाल के गायब होेने और मृतक का हुलिया उम्र लगभग एक ही थी इस कारण पुलिस ने श्रीपत के परिजनो को सुरवाया थाने में बुलाया।

सुरवाया पुलिस ने मृतक के जप्त शुदा कपड़े एव जूतो को दिखाकर कराया गया, लेकिन मृतक के नजदीकी परिजन एवं रिश्तेदार पहचान करने से इंकार करते रहे ।

मृतक के कपड़े एवं जूते की पहचान कराने मृतक के गाँव बामौर डामरौन लेकर पहुचे तो गाँव वालों एवं मृतक के कपड़े सिलने वाले टेलर ने मृतक की कमीज को पहचान लिया । उक्त कमीज को टेलर के द्वारा सिला गया था ।

इस प्रकार अज्ञात मृतक की शिनाख्ती श्रीपत पाल पुत्र नरायणजू पाल उम्र 68 साल निवासी ग्राम बामौर डामरौन थाना भौती के रूप में हुई,लेकिन परिजना के द्वारा पहचान न करने के पर पुलिस को परिजनो पर शक हुआ कि वे मृतक को क्यो नही पहचान नही रहे हैं।

बताया गया कि मृतक श्रीपत के यहां कोई संतान नही थी वह जमीन और 1 ट्रेक्टर का मालिक था। उसे दारू की आदत थी और शराब पीकर वह प्रतिदिन गालीग्लोच करता था। मृतक ने अपने भाई के बेटे राजू पाल उम्र 20 साल को गोद ले रखा था,लेकिन वह दारू पीकर उससे भी गाली ग्लौच करता था।

राजू पाल इससे परेशान था और उसकी हत्या कर संम्पत्ति हडपने ओर गालियो से छुटकारा पाने के लिए उसने श्रीपत की हत्या का प्लान बनाया और इसमें नवल पाल 39 साल मृतक का भतीजा और उसने दोस्त सुखनंदन को शामिल किया।

बताया जा रहा हैं 12 जनवरी की शाम को इन तीनो ने मिलकर श्रीपद को घर पर ही दारू से पिलाई और बाईको पर बिठालकर अमोला घाटी ले आए और श्रीपद के सिर पर कुल्हाडी से बार कर दिया,जिससे उसकी मौत हो गई।

पुलिस ने तीनों आरोपियों को विधिवत गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त कुल्हाड़ी घटना स्थल से एवं दो मोटरसायकल उनके घरों से बरामद की गई । अज्ञात मृतक की शिनाख्ती एवं आरोपियों की गिरफ्तारी में थाना प्रभारी सुरवाया उनि दीप्ती तोमर , प्र.आर सुकल सिह मरावी , मुनेन्द्र सिह भदौरिया , आर अवतार सिंह , रविन्द्र बुन्देला , रवि कन्नौजी अभय सिह एवं आर .चालक प्रकाश अवास्या की सराहनीय भूमिका रही।