khaniyadhana News: आधार का आधार नही : पिछोर ओर चंदेरी जाने को मजबूर लोग

खनियांधाना। शासन की प्रत्येक योजना का लाभ लेने के लिए एवं शासकीय कार्य में आधार कार्ड अनिवार्य है। 101 ग्राम पंचायतों वाले एवं जिले की सबसे दूरस्थ तहसील खनियाधाना में आधार कार्ड बनाने की कोई व्यवस्था नहीं है। शासन की मंशा के अनुरूप प्रत्येक व्यक्ति का आधार कार्ड अनिवार्य है, वही आधार कार्ड न बन पाने से लोग बहुत परेशान हैं। 

पहले जब आधार कार्ड बने और उनमें परेशानियां आती रही तथा गलतियां हुई उन गलतियों को सुधारने के लिए भी। एक बार पुन: आधार कार्ड केंद्र पर जाना पड़ता है। जबकि खनियाधाना में पूरे ब्लॉक में कहीं भी आधार कार्ड बनाने की व्यवस्था नहीं है। जब बहुत आवश्यक हो जाता है तब पिछोर या चंदेरी आधार कार्ड में संशोधन के लिए जाना पड़ता है। 

वहां जाकर पूरा दिन लाइन में लगना होता है, बैंक में खाता खोलने के लिए आधार कार्ड अति आवश्यक है। केवाईसी के लिए भी आधार कार्ड आवश्यक होता है श्रीमती राज पांडे ने बताया कि मुझे आधार कार्ड आवश्यक रूप से बनवाना था, क्योंकि बैंक में मांगा जा रहा था। परंतु आधार कार्ड ना होने के कारण नया बनवाने की कोई व्यवस्था नहीं है। जिससे मुझे बहुत परेशानी हो रही है कुटीर के आवेदन के लिए आवेदन की प्रक्रिया में आधार कार्ड लगाना होता है। 

वही हितग्राही सुरेंद्र ने जानकारी देते हुए बताया कि मुझे उदगीर का आवेदन करना था परंतु आधार कार्ड नहीं है अब मैं दिन भर का काम छोड़कर पिछोर चंदेरी बनवाने कैसे जाऊं और यही भी गारंटी नहीं है कि वहां जाने के बात एक ही दिन में आधार कार्ड बन जाएगा। 

अशासकीय स्कूल वालों को बहुत परेशानी है आरटीई के तहत छात्र छात्राओं के फिंगर लगवाने के बाद आरटीआई के भुगतान के लिए बच्चे ऑनलाइन देखते हैं जबकि प्रवेश के समय जब बच्चे आधार कार्ड लेकर आते हैं तब 5 वर्ष की आयु लगभग होती है बाद में उनके फिंगर नहीं आते तब आधार कार्ड केंद्र पर जाकर के छात्र छात्राओं को पुन: फिंगर लगवाना होते हैं।

परंतु खनियाधाना में आधार बनाने के केंद्र नहीं है ना ही सुधारने की कोई व्यवस्था है जिसके चलते कई स्कूलों का आर टी ई का भुगतान रुका हुआ है जब तक आधार केंद्र पर आधार नहीं सुधरेंगे या फिंगर नहीं आएंगे तब तक बच्चे ऑनलाइन नहीं देखेंगे ना ही उनके फीस प्रतिपूर्ति की प्रक्रिया पूर्ण की जा सकेगी जिससे स्कूल वालों को फीस नहीं मिल पाएगी, 

इनका कहना हैं। 
एसडीएम आरके चौकी कर ने बताया कि आधार बनाने की प्रक्रिया जनपद के अंतर्गत है जनपद पंचायत के सीईओ साहब से जानकारी लेकर बताता हूं 
सीईओ आरपी गोरसिया यह पूरा मामला जिले के कलेक्टर कार्यालय के अधीन है मैं बात करके बताता हूं