खनियांधाना में खुलेआम चल रहा है रेत का अवैध कारोबार, पनडुब्बी डालकर रेत निकाल रहे है - khaniyadhana News

शिवम पाण्डेय@शिवपुरी। जिले के शिवपूरी में रेत और पत्थर के अवैध उत्खनन को लेकर सुर्खियों में बना रहता है। खनियाधाना की नदी तालाबो से तो दिन रात रेत का अवैध उत्खनन किया जाता रहा है। चाहे वह आरक्षित वन क्षेत्र ही क्यों न हो वहीं अब वन क्षेत्र में पत्थर की खदानों से भी पत्थर का अवैध उत्खनन हो रहा है। 

खुलेआम अवैध रेत उत्खनन कर परिवहन कर रहे हैं। मिट्टी और रेत के खनन पर शासन की रोक है। बावजूद इसके बड़े पैमाने पर रेत माफिया अवैध खनन कर रहे है खनियाधाना में इन दिनों अवैध उत्खनन का कारोबार धड़ल्ले से हो रहा है

इतना ही नहीं सीधे नदी में से रेत निकाली जा रही हैण्ण्ण् ऐसा नहीं कि रेत माफिया छिपकर इस गोरखधंधे को चला रहे होंण्ण्ण् बल्कि खुलेआम क्षेत्र की सीमाओ पर धड़ल्ले से रेत का अवैध उत्खनन किया जा रहा हैण्ण्ण्जिससे रेत माफिया के अवैध रेत के व्यापार में इनको कई विभागों से संरक्षण प्राप्त होने की आशंका नजर आ रही है 

यहां बड़े पैमाने पर रेत का स्टॉक जमा

पिछोर बायपास,गुडर गोलाकोट तालाब,खिरकित गाव,काली पहाडी,आदिवासी मोहल्ला देवखो गाॅव,जैरा और कई गांवो में रेत का भण्डारण किया गया हैं। 

थाने लाकर कार्यवाही के बाद छोड़ देते हैं वाहन 

अवैध रेत उत्खनन कर ट्रैक्टर ट्रॉली, से बैखौफ तरीके से रेत का अवैध परिवहन किया जा रहा है। अभी कुछ दिनों पहले देखने को मिला की पुलिस पहले ट्रैक्टर पकड़ती है और फिर मामले को रफा दफा कर देती है इसका जीता जागता उदाहरण बुधवार को रात में पुलिस थाना के सामने देखने को मिला जहां डायल 100 पर तैनात आरक्षक गणेश माझी ने पर तैनात पुलिस आरक्षक ने खनियाधाना मे अवैध रेत के ट्रैक्टर को रोककर अवैध रेत के कागजात मांगे तो उनके बाद कुछ नहीं मिला तो पुलिस आरक्षक ने ट्रैक्टर की चाभी ले ली। 

उसके बाद उसने कहा कि ट्रैक्टर पुलिस थाना खनियाधाना जाएगा और आरक्षक पुलिस थाना आ गए सब आरक्षक द्वारा अपने वरिष्ठ अधिकारियों को बताया तब वह केस बनाने लगे तभी खनियाधाना थाने में पदस्थ नगर सैनिक बच्ची लाल ने रुतबे के दम पर पुलिस को सेवाशुल्क देकर ट्राली को छुड़वाया लेकिन संपूर्ण मामला उजागर होने के बाद भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई अवैध उत्खनन से पुलिस से मिलीभगत किसे छुपी नहीं है।