वार्ड 36 में नालियां ओवरफ्लो, गंदा पानी घरों में घुस रहा है - Shivpuri News

शिवपुरी। नगरपालिका को भले ही एक दिन पहले प्रदेश के स्वच्छता रैंकिंग के लिए संभाग में दूसरे नंबर पर आने का पुरस्कार मिला हो लेकिन हकीकत इससे परे हैं। शहर के वार्ड क्रमांक 36 के अंतर्गत आने वाली संजय कॉलोनी में हालात यह हैं कि यहां नालियों की सफाई नहीं हो रही हैं और नालियों में भरा पानी घरों में घुस रहा है। इस वजह से वार्ड वाशिंदों को नारकीय हालात में यहां जीना पड़ रहा है।

वार्ड 36 के संजय कॉलोनी में रहने वाले मोहनलाल प्रजापति, राजकुमार शाक्य, गौरा बाई, रामजी लाल ने बताया कि गंदगी इस समस्या की शिकायत वह कई बार अपने वार्ड के पार्षद गौरव चौबे और नगरपालिका पहुंचकर आवेदन लगा चुके हैं। लेकिन उनकी इस परेशानी की और किसी ने ध्यान नहीं दिया। 

हालात यह है कि इन घरों और इनके आसपास रहने वाले लोगों के बच्चे अब खांसी, बुखार जैसी बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। और नगरीय प्रशासन इन वार्डों में स्वच्छता के लिए कोई पहल नहीं कर रहा है। 

नगरपालिका ने यहां के घरों के आगे नाली नहीं बनाई, जिससे निर्मित हुए यह हालात: नगरपालिका शिवपुरी पर आरोप लगाते हुए वाशिंदों ने कहा कि पूरे 5 साल निकल गए लेकिन वार्ड की सुध नगरपालिका के अधिकारियों और पार्षद ने कोई सुनवाई नहीं की है। 

पहले यहां गंदगी घरों के आगे से निकालने के लिए नालियों को लोगों ने बनवाया। लेकिन आधे घरों की नालियां यहां बन सकी और आगे की नालियां न बनने से यहां पानी की निकासी नहीं हो रही। इससे इस सर्दी में भी हालात यह बन गए हैं कि गंदा पानी तालाब की तरह इन कॉलोनियों में भर रहा है। इस गंदगी से एक तरफ जहां बीमारियां उत्पन्न हो रही हैं वहीं कई तरह की अन्य समस्याओं का सामना भी लोगों को करना पड़ रहा है।

संजय कॉलोनी, साइंस कॉलेज के पास भी यही हालात 

अकेले संजय कॉलोनी में ही गंदगी के हालात नहीं हैं। वरन साइंस कॉलेज के आस पास की कॉलोनियों में भी यही हालात है। यहां के वाशिंदों को पिछली बार नगरपालिका चुनाव के दौरान जनप्रतिनिधियों ने आश्वासन दिया था कि वह एक साल में इस वार्ड में नालियों को बेहतर बनाकर यहां की दशा संवारेंगे लेकिन कोई भी काम यहां नहीं हुआ। जिससे लोगों की परेशानियां बढ़ गई।

न तो तत्कालीन पार्षद ने सुनवाई की और नपा के नुमांइदों ने यहां आकर वार्ड में नालियां और सफाई का काम कराया। अब यहां की गलियों में गंदगी बिखरी पड़ी है। और लोग बदबू के साथ अब बीमारियों की चपेट में आने मजबूर हो रहे हैं। ऐसा नहीं हैं कि संजय कॉलोनी में यही हालात हैं। 

अब से दो सप्ताह पहले कमलागंज एबी रोड पर जब सीवर लाइन चौक होने से वहां की गंदगी घरों के बाहर बनी नालियों से सड़कों पर बिखर गई थी। और इस गंदगी को समटने में नगरपालिका को पूरे 72 घंटे लगे थे। कुल मिलाकर इस कमलागंज के अलावा अन्य वार्ड में भी गंदगी के यही हालात है। जिसकी बेहतर साफ सफाई करने की गुहार वार्ड वासियों ने नगरपालिका में की है।

गंदगी से होकर निकलना पड़ता है

घर से बाहर निकलो तालाबनुमा गंदगी में होकर निकलना पड़ता है। कई बार हम शिकायतें नगरपालिका में कर चुके। पर सुनता कोई नहीं है। हमारी सुनवाई न होने से अब डर लगता है कि गंदगी बढऩे से यहां मच्छरों का प्रकोप है और यदि उनके दंश से मलेरिया या डेंगू हो गया तो फिर हमारी तो परेशानी और बढ़ जाएगी। 
गौरा बाई, निवासी संजय कॉलोनी शिवपुरी।

इनका कहना है-
हमारी 22 कचरा गाडिय़ां नियमित रुप से सभी वार्डों में जाकर चक्कर लगा रही हैं और कचरा एकत्रित कर रही है। सफाई कर्मी भी नियमित सफाई के लिए वार्डों में जाते हैँ। फिर भी हम सोमवार को संजय कॉलोनी में सफाई की विशेष टीम भेजकर वहां सफाई कराएंगे। 
गोविंद भार्गव, सीएमओ नगरपालिका शिवपुरी