शिक्षा विभाग के फरार क्लर्क कोर्ट में हाजिर, सीने में दर्द, अस्पताल में भर्ती, 2000 का इनाम था - Shivpuri News

शिवपुरी। जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के बाबू वृंदावन शर्मा सुसाइड कांड में फरार दो हजार रुपए के इनामी दोनों बाबू ने सोमवार को शिवपुरी कोर्ट पहुंचकर सरेंडर कर दिया । न्यायाधीश के सामने सीने में दर्द की शिकायत पर मेडिकल के लिए जिला अस्पताल भेजा,जहां डॉक्टर ने भर्ती कर इलाज शुरू कर दिया है। हाजिर हुए दोनो बाबूओ को सीने में दर्द की शिकायत बताई जा रही हैं। 

जानकारी के मुताबिक निलंबित बाबू वृंदावन शर्मा ने 28 जून को नेशनल पार्क में पेड़ पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। सुसाइड नोट में तत्कालीन डीईओ अजय कटियार सहित बाबू सचिन अग्रवाल व प्रशांत गुप्ता और नरेंद्र सेंगर पर प्रताड़ना के आरोप लगाए थे। पुलिस ने 3 जुलाई को मुकदमा दर्ज कर लिया था। 

मामले में फरार रहे चले संबंधितों पर दो - दो हजार रुपए काएसपी द्वारा इनाम घोषित कर दिया था । मामले में बाबू सचिन अग्रवाल व प्रशांत गुप्ता ने सोमवार को कोर्ट पहुंचकर सरेंडर कर दिया । यहां सीने में दर्द की शिकायत पर कोर्ट ने अस्पताल भिजवा दिया । डॉक्टरों ने फिलहाल भर्ती कर इलाज शुरू कर दिया था। 

सवाल यह बनता हैं
पूरी मानसिकता के साथ कोर्ट में हाजिर हुए दोनो फरार आरोपियो को अचानक सीने में दर्द होने लगता हैं। बीमारी भी एक ही प्रकार की वह भी सीने में दर्द। यह सब अचानक हुआ की पूरी प्लानिंग के साथ स्क्रीप्ट तैयार की गई हैं यह तो बाबूओ के अतिरिक्त कोई नही जानता पर बाबूओ के दर्द की खबर से शिक्षा विभाग के लोग अपने—अपने हिसाब से व्याख्या कर रहे हैं। बता दे कि तत्कालीन डीईओ अजय कटियार ने जमानत याचिका रदद होने पर 10 दिसंबर को कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। 

टीआई ने स्वास्थय परीक्षण के लिए लिखा पत्र
सीने में दर्द की शिकायत के बाद दोनो बाबू जिला चिकित्सालय में भर्ती हो गए हैं,देहात थाना टीआई सुनील खेमारिया ने सिविल सर्जन को पत्र लिखा हैं जिसमें दोनो बाबू का डॉक्टरो की टीम से स्वास्थय परीक्षण कराने का उल्लेख हैं। यदि परीक्षण में दोनो स्वस्थ पाए जाते हैं तो जेल भेजने की कार्रवाई होगी।