गर्लफ्रेंड,नशा और बुलेट की किस्त चुकाने दिया था कोलारस लूट कांड को अंजाम, 3 आरोपीयों से 11 लाख 26 हजार जप्त - kolaras News

शिवपुरी।
आज कोलारस पुलिस ने 4 दिन पहले हुए सनसनी खेज लूटकांड के आरोपीयों को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपीयों को पकडा है। साथ ही इन आरोपीयों का एक साथी अभी फरार है। इस मामले में आईजी ग्वालियर ने 30 हजार रूपए के इनाम की घोषणा की है। साथ ही इस मामले के ट्रेस होने पर व्यापारी संघ ने 51 हजार रूपए और राजेन्द्र पिपलौदा की और से 5 हजार का इनाम घोषित किया था।

बताया गया है कि आरोपी नशे के आदि थे। साथ ही एक आरोपी की गर्लफ्रेड लगातार उससे डिमांड कर रही थी। इसके साथ ही आरोपी ने अभी हाल ही में बुलेट खरीदी थी। जिसकी किस्त नहीं चुका पा रहा था। इन्हीं सभी लतों की बजय से उन्होंने लूट कांड की घटना को अंजाम दिया।

यह था पूरा मामला

कोलारस में दोपहर लगभग एक बजे भारतीय स्टेट बैंक से 18 लाख रुपये निकाल कर दाल मिल पर ले जाते समय दाल मिल संचालक के भतीजे की आंखो में मिर्ची झोंककर अज्ञात बुलेट मो.सा. सवार बदमाशों ने लूट लिया था, दिनदहाडे कस्बे में हुई इस सनसनीखेज घटना को गंभीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक शिवपुरी राजेश सिंह चंदेल द्वारा तत्काल ही संपूर्ण जिले के थानों को पुलिस कण्ट्रोल रूम के माध्यम से अलर्ट कर नाकाबंदी करायी गयी।

एसपी स्वंय घटना स्थल पर पहुंचकर घटना का पर्यावक्षेण किया गया। अति. पुलिस अधीक्षक प्रवीण भूरिया एवं एस.डी.ओ.पी कोलारस अमरनाथ वर्मा व एस.डी.ओ.पी शिवपुरी श्री सुधीर सिंह कुशवाह के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी रन्नौद उनि. अनिल रघुवंशी, थाना प्रभारी इंदार उनि. गब्बरसिंह, थाना प्रभारी बदरवास उनि. उमेश उपाध्याय, थाना प्रभारी तेन्दुआ उनि. के.एन. शर्मा को क्रमशः सी.सी.टी.व्ही फुटेज, बदमाशों की जानकारी एवं आसपास के जिलों से बुलेट मो.सा. संबंधी जानकारी एकत्रित कर आरोपियों की पतारसी हेतु निर्देशित किया गया।

घटनास्थल के साक्षियों से पूछताछ में आरोपियों में विशेष समुदाय का व्यक्ति शामिल होने की आशंका होने से उस समुदाय के बीच में अपराधियों के हुलिया एवं घटना में प्रयुक्त बुलेट मोटरसायकल के संबंध में पतारसी हेतु थाना प्रभारी देहात निरी. सुनील खैमरिया एवं थाना प्रभारी सुरवाया उनि. दीप्ती तोमर को लगाया गया था । साथ ही सायवर सहायता एवं आरोपियों की पतारसी हेतु सायवर व ए.डी टीम को भी लगाया गया था। पुलिस अधीक्षक शिवपुरी द्वारा उक्त अपराध में

आरोपियों की सूचना/गिरफ्तारी हेतु 10 हजार रुपये का ईनाम घोषित किया गया था।
घटना को गंभीरता को देखते हुये पुलिस महानिरीक्षक ग्वालियर जोन अविनाश शर्मा द्वारा घटना स्थल पर पहुंचकर फरियादी से चर्चा कर कोलारस में बैंक व घटना स्थल का निरीक्षण किया गया तथा आरोपियों की शीघ्र पतारसी हेतु निर्देशित किया गया साथ ही ईनाम वृद्धि हेतु भी निर्देशित किया गया।

थाना प्रभारी रन्नौद उनि. अनिल रघुवंशी द्वारा सी.सी.टी.व्ही फुटेज के संबंध में जानकारी एकत्रित की गई, एकत्रित जानकारी के आधार पर थाना प्रभारी सुरवाया उनि. दीप्ती तोमर, थाना बैराड में पदस्थ उनि. अरविन्द चौहान एवं थाना प्रभारी कोलारस संजय मिश्रा को घटना के आरोपियों के संबंध में तीन संदिग्धों की जानकारी प्राप्त हुई संदिग्धों की पतारसी पर घर से गायब होना पाया गया, मुखबिरों से प्राप्त सूचना के आधार पर घटना के तीन संदिग्धों का भेड़ फार्म के पास होने एवं शहर से भागने की तैयारी करने की सूचना पर घेराबंदी कर संदिग्धों को पुलिस अभिरक्षा में लिया गया।

उनसे पूछताछ पर उन्होंने अपराध करना स्वीकार किया एवं चौथे आरोपी के संबंध में भी जानकारी दी है, जो फरार है। तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से लूटी गई राशि में से 11 लाख 26 हजार रुपये नगद एवं घटना में प्रयुक्त बुलेट मोटरसायकल जप्त की गई है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिवपुरी प्रवीण कुमार भूरिया के सतत् मार्गदर्शन व एस.डी.ओ.पी कोलारस अमरनाथ वर्मा, एस.डी.ओ.पी शिवपुरी सुधीर सिंह कुशवाह के नेतृत्व में घटना का खुलासा शीघ्र संभव हो सका है।

आरोपियों की सुरागरसी में टी.आई देहात थाना निरी. सुनील खैमरिया, टी.आई कोलारस निरी. संजय मिश्रा, थाना प्रभारी सुरवाया उनि. दीप्ती तोमर, उनि. अरविंद चौहान की विशेष भूमिका रही एवं आरोपियों की गिरफ्तारी में थाना कोलारस के उनि. पूरन शर्मा, सउनि. अरुण वर्मा, प्रआर रामकुमार सिंह तोमर, संतोष सिंह भदौरिया, नबलसिंह, आरक्षक गुरमीत, गजेन्द्र परिहार, प्रभजोत, नरेश दुबे, ध्रुव दुबे, पुष्पेन्द्र रावत, देशराज राठौर, बलवीर, जितेन्द्र रायपुरिया, दीनू रघुवंशी, धर्मवीर, सायवर सेल एवं ए.डी टीम से उनि. मनीष जादौन, उनि. बृजमोहन रावत, सउनि. वासुदेव रावत, सउनि. प्रवीण त्रिवेदी, प्रआर देवेन्द्र सिंह, उस्मान खांन, आरक्षक चंद्रभान, विकास चौहान, जलज रावत, आलोक शर्मा, देवेन्द्र सेन, अनूप, की विशेष भूमिका रही । पुलिस महा निरीक्षक ग्वालियर जोन द्वारा पुलिस टीम को 30 हजार रुपये के नगद ईनाम से पुरुस्कृत करने की घोषणा की है।