वायदा बाजार के फरार 9 धनाठ्यों को गिरफ्तार क्यों नहीं कर रही पुलिस / Shivpuri News

शिवपुरी। कुछ दिनों पूर्व कोतवाली पुलिस ने वायदा व्यापार के नाम पर एक आरोपी को हिरासत में लेकर उसके 9 अन्य साथियों पर धोखाधडी का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कर ली थी। इस मामले के बाद शहर के वायदा व्यापार से जुडे लोगों में हडकंप मच गया था। इसके बाद पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया। 

इस मामले में शेष 9 आरोपियों में एक की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है। शुरुआत में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस द्वारा दबिश दिए जाने के समाचार मिल रहे थे परंतु अब वह भी नहीं मिल रहे हैं। FIR दर्ज हुए 1 माह बीत चुका है। क्योंकि मामला शहर के धनाढ्य लोगों से जुड़ा हुआ है इसलिए पुलिस की निष्पक्षता पर सवाल उठ रहा है। कहा जा रहा है कि पुलिस जानबूझकर आरोपियों को समय दे रही है ताकि वह इस मामले से बच निकलने का कोई रास्ता ढूंढ सके। 

क्या था पूरा मामला

26 जुलाई 2020 रविवार को कोतवाली पुलिस ने दीपक गर्ग को डब्बा व्यापार खिलाने के आरोप में विजयपुर से गिरफ्तार किया था। पुलिस ने दीपक सहित उसके साथी नितिन गुप्ता, कमल राठी, अंमित मंगल, राजीव जैन, बंटी बनिया, पंकज बंसल, शीतल जैन के खिलाफ धारा 420,120 बी,23 ए के तहत मामला दर्ज किया था। जिसमें पुलिस ने एक आरोपी दीपक घर को तो तत्काल गिरफ्तार कर लिया था परंतु शेष आरोपियों को अब तक गिरफ्तार नहीं किया है।

सबूत इकट्ठा कर रहे हैं, उसके बाद गिरफ्तार करेंगे: टीआई यादव 

थाना कोतवाली के इंस्पेक्टर बादाम सिंह यादव का कहना है कि अभी इस मामले की विवेचना चल रही है। हम उनके खिलाफ साक्ष्य एकत्रित कर रहे है। उसके बाद वह भी गिरफ्तार होंगे।