थाने के कम्प्यूटर आपरेटर का वेतन कलारी से आता है, अब नही मिल रहा / khaniyadhana News

शिवम पाण्डेय/खनियाधानां। खनियाधानां थाने की कमान संभाल चुके टीआई सुधीर सिंह कुशवाह का फिर एक कारनामा सुर्खियो में आया हैं। बताया जा रहा हैं कि खनियाधानां के थाने में कम्प्यूटर आपरेटर का वेतन स्थानीय कलारी यानी देसी शराब की दुकान से आता हैं। टीआई कुशवाह को कुछ दिन पूर्व लाईन अटैच कर दिया था अब इस आपरेटर को वेतन नही मिल रहा हैं। इस मामले में आवेदक ने एसपी से गुहार लगाई है।

खनियाधाना थाने में प्राइवेट तौर पर पदस्थ देवेश पाठक सीसीटीएनएस पर कार्य करने के बावजूद भी उसका मानदेय नहीं दिया। देवेश पाठक ने बताया कि मैंने टीआई सुधीर सिंह कुशवाह से कई बार अपना मानदेय मांग चुका हूं लेकिन अभी तक उनके द्वारा मेरा मानदेय प्रदान नहीं किया। अब उनका स्थानांतरण कई अन्य जगह हो गया है जिससे कंप्यूटर ऑपरेटर देवेश पाठक का मानदेय प्रदान नहीं हुआ है। देवेश पाठक की स्थिति खराब है वह इस लॉकडाउन में घर रह कर अपना जीवन यापन कर रहा हैं।

थाना प्रभारी सुधीर सिंह कुशवाह काफी विवादों में रह चुके हैं आप भी कुछ समय पूर्व ही खनियाधाना में लॉक डाउन के दौरान फरियादी की सुनवाई नही करने पर आज पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल ने थाना प्रभारी को लाइन अटैच कर दिया था। इस थाने की कमान लाइन में पदस्थ टीआई आलोक भदौरिया को सौंपी गई थी।

देवेश पाठक ने बताया था कि टीआई सुधीर सिंह कुशवाह उससे कहा था कि तुम्हें खनियाधाना की कलारी वाला पैसे दे देगा जब हमारे संवाददाता ने उससे पूछा कलारी वाली पैसे क्यों देगा तो देवेश पाठक ने बताया कि कलारी से उनका महीना बंधा हुआ था।